Cameron Bancroft on Ashes selection: We’ll have to see what happens
कैमरून बैनक्रॉफ्ट © Getty Images

बॉल टैंपरिंग मामले में लगे 9 महीने के बाद कैमरून बैनक्रॉफ्ट एक बार फिर ऑस्ट्रेलियाई जर्सी में नजर आएंगे। दरअसल सलामी बल्लेबाज बैनक्रॉफ्ट को एशेज के वार्म अप मैच के लिए स्क्वाड में जगह मिली।

इस हफ्ते साउथम्पटन में ऑस्ट्रेलिया और ऑस्ट्रेलिया ए के बीच होने वाले मैच के लिए चुने गए 25 सदस्यीय स्क्वाड में बैनक्रॉफ्ट का नाम शामिल है। इस मैच के नतीजे के आधार पर ही एक अगस्त से शुरू होने वाली एशेज सीरीज के लिए फाइनल स्क्वाड चुना जाएगा। हालांकि बैनक्रॉफ्ट चयन को लेकर ज्यादा परेशान नहीं हैं।

उन्होंने कहा, “मैं क्रिकेट खेलता हूं क्योंकि मुझे ये खेल पसंद है, क्योंकि आप अपने देश का प्रतिनिधित्व करना चाहते हैं। मुझे इस हफ्ते का आनंद लेना है, और ये इसी बारे में है। उम्मीद है कि मैं अच्छा प्रदर्शन कर सकूंगा और फिर देखना होगा कि आखिर में क्या होगा।”

इंग्लैंड के लिए वो डेब्यू टेस्ट मैच नहीं खेलना चाहिए था: बॉयड रैंकिन

कैमरून घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन कर एशेज के लिए अपना पक्ष पहले ही मजबूत कर चुके हैं। डरहम टीम में बतौर कप्तान खेलते हुए बैनक्रॉफ्ट ने 2019 काउंटी चैंपियनशिप में 45.37 की औसत से 726 रन बनाए, जिसमें दो दोहरे शतक शामिल हैं।

बैनक्रॉफ्ट शायद डरहम के लिए आगे के मैच ना खेल पाएं लेकिन उन्हें जानकर खुशी है कि टीम मजबूत स्थिति में है। उन्होंने कहा, “मुश्किल समय से सीख लेने का ये अच्छा अनुभव रहा। सीजन की शुरुआत हमने खास अच्छी नहीं की थी। हार का अंतर उतना हानिकारक नहीं था जितना हमने सोचा था। हम बड़े मौकों पर प्रदर्शन नहीं किया लेकिन हम अब अच्छा कर रहे हैं और मैच जीतने के मौका बना रहे हैं।”

रविचंद्रन अश्विन के ‘नए गेंदबाजी प्रयोग’ के मदद से डिंडीगुल ड्रैगन्स की जीत

कप्तान ने आगे कहा, “हम सभी अच्छा महसूस कर रहे हैं, जीतना हमेशा ही हारने से अच्छा होता है। बोर्ड पर अच्छा प्रदर्शन कर पाने और मैच जीत पाने से टीम के अंदर अच्छी भावना आती है। हम जहां हैं वो अच्छी स्थिति है। मुझे इस टीम पर गर्व है और उम्मीद है कि आगे बढ़ते रहेंगे।”