इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें सीजन में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को पांचवां खिताब जिताने के बाद रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को सीमित ओवर फॉर्मेट में भारतीय टीम का कप्तान बनाए जानें की मांग की जाने लगी। कई दिग्गजों ने इस राय का समर्थन किया, वहीं कुछ पूर्व क्रिकेटर इसके विरोध में उतरे, जिसमें से एक थे आकाश चोपड़ा।

पूर्व बल्लेबाज चोपड़ा ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के खराब प्रदर्शन के लिए आलोचना झेल रहे कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के समर्थन में बात करते हुए पूछा था कि क्या रोहित बैंगलोर को पांच आईपीएल खिता जिता पाते? अब मुंबई इंडियंस के कप्तान ने इसका जवाब दिया है।

पीटीआई से बातचीत में रोहित ने मुंबई इंडियंस की सफलता पर बात की। उन्होंने कहा, “हां हमारे पास पोलार्ड, पांड्या और बुमराह हैं लेकिन क्या किसी ने ये सोचा कि ये टीम इतनी सफल क्यों है? मैंने कई लोगों को कहते हुए सुना है कि क्या रोहित दूसरी टीमों के साथ ये कर सकता है? पहली बात तो, मुझे दूसरी टीमों के साथ ऐसा करने की जरूरत क्यों है?”

उन्होंने कहा, “ये फ्रेंचाइजी एक निश्चित दिशा में आगे जाना चाहती है और मैं एक कप्तान और खिलाड़ी के तौर पर उसी दिशा में आगे बढ़ना चाहता हूं। क्या ये टीम रातोंरात इतनी अच्छी हो गई? नहीं। बात केवल इतनी है कि ये टीम खिलाड़ियों को अंदर-बाहर करने में विश्वास नहीं करती है और हर खिलाड़ी, रोहित शर्मा समेत 2011 की नीलामी के समय उपलब्ध था। केवल मुंबई थी जिसने उन्हें चुना और एक टीम बनाने पर भरोसा दिखाया।”

13वें सीजन के शुरू होने से पहले दिल्ली कैपिटल्स टीम से न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट को ट्रेड कर कप्तान रोहित काफी खुश हैं। ये फैसला टीम की खिताबी जीत में काफी मददगार साबित हुआ।

रोहित ने कहा, “पिछले साल ट्रेंट बोल्ट दिल्ली के साथ था और उससे पहले सनराइजर्स के साथ था। हमें ऐसा कोई चाहिए था जो आगे बढ़कर विकेट ले सके और गेंद को स्विंग कर सकता हो। हमने काफी कोशिशें की और दिल्ली से उसे हासिल कर लिया, जिस पर मुझे काफी गर्व है।”