भारत के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने खराब फॉर्म बावजूद अनुभवी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) का समर्थन किया। कोहली ने बादा किया है कि वादा किया कि उनकी टीम अतीत में प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करेगी।

रहाणे, जिन्होंने कानपुर में खेले गए शुरुआती टेस्ट में मेजबान टीम का नेतृत्व किया और दोनों पारी में कुल 39 रन बनाए थे। हालांकि हैमस्ट्रिंग इंजरी की वजह से आखिरी टेस्ट खेलने से चूक गए थे।

33 साल के रहाणे इस साल खेले 12 मैचों में 20 से भी कम का औसत बरकरार रख पाए हैं। जिसके बाद उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज के लिए चुने गए टेस्ट स्क्वाड से बाहर किए जाने की आशंका है।

मुंबई टेस्ट में जीत के बाद कोहली ने कहा, “मैं उनके फॉर्म को नहीं आंक सकता। कोई भी इसका न्याय नहीं कर सकता। केवल खिलाड़ी ही जानता है कि वो किस दौर से गुजर रहा है, हमें इस समय में उनका समर्थन करने की आवश्यकता है, खासकर जब उन्होंने अतीत में अच्छा प्रदर्शन किया हो। हमारे पास ऐसा माहौल नहीं है जहां हमारे खिलाड़ी पूछते हैं ‘अब क्या होगा?’।”

कोहली ने कहा कि टीम व्यक्तिगत प्रदर्शन की बाहरी आलोचना से प्रभावित नहीं हुई। उन्होंने कहा, “हम टीम में हर किसी का समर्थन करते हैं, अजिंक्य या किसी का भी। हम बाहर जो होता है उसके आधार पर निर्णय नहीं लेते हैं।”

कोहली ने कहा कि जून में न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल हारने और फिर पिछले महीने टी20 विश्व कप सेमीफाइनल में पहुंचने में नाकाम रहने के बावजूद टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज जीतकर ऊंची उड़ान भर रही है। उन्होंने कहा, “साल हमारे लिए बहुत अच्छा रहा है, हमने बहुत अच्छा क्रिकेट खेला है। टी20 विश्व कप और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में दो झटके लगे।”

कोहली ने कहा, “इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में जीत ने हमें बहुत आत्मविश्वास दिया। देखिए, भारतीय टीम से सब कुछ जीतने की उम्मीद की जाती है लेकिन ये मुमकिन नहीं है, हम जानते हैं कि हमें कहां काम करने और सुधार करने की जरूरत है।”