© AFP
© AFP

भारतीय बल्लेबाज दिनेश कार्तिक का कहना है कि जिस तरह की मानसिक चुनौती का सामना युवा स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे मैच में किया वह उन्हें मानसिक रूप से मजबूत बनाएगा। मुंबई वनडे में टॉम लेथम ने 103* और रॉस टेलर ने 95 रनों की पारी खेली और टीम को जीत को ओर प्रशस्त किया और भारतीय स्पिनरों को बौना साबित कर दिया।

कार्तिक ने मैच के बाद हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “यह उस तरह के मैच हैं जो आपको गेंदबाज के तौर पर मानसिक रूप से मजबूत बनाते हैं। ये वो गेम हैं जो उनकी दबाव की परिस्थिति में खड़े होने में मदद करेंगे और वे सीखेंगे कि जब विकेट से ज्यादा मदद न मिल रही हो तो दबाव को कैसे झेलते हैं।” हाल फिलहाल में कुलदीप और युजवेंद्र ने टीम इंडिया की सीमित ओवर क्रिकेट में मिली सफलता में अहम योगदान दिया है। कार्तिक का मानना है कि दोनों का आत्मविश्वास टीम मैनेजमेंट को विश्वास देता है और लंबे समय में एक खराब दिन कोई मायने नहीं रखता।

कार्तिक ने कहा, “टीम मैनेजमेंट ने उनका खूब समर्थन किया है और वे अपने आपमे भरोसा करते हैं। वे दोनों युवा हैं, पिछली सीरीज में दोनों ने बेहतरीन गेंदबाजी की थी। और मुझे यकीन है कि उनका विश्वास आसमान के बराबर ऊंचा है। यहां या कहीं और, एक गेम खराब हो जाने से आप खराब गेंदबाज नहीं बन जाते।”

विराट कोहली की ही तरह तमिलनाडु के कार्तिक ने टेलर और लेथम की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, “रॉस टेलर और टॉम लेथम को श्रेय जाता है। उन्होंने बेहतरीन बल्लेबाजी की। उन्होंने परिस्थिति का इस्तेमाल किया और अच्छे स्ट्रोक खेले। उन्होंने अच्छे प्रभाव के साथ स्वीप शॉट खेले।”

कार्तिक, जो अपनी 47 गेंदों में 37 रनों की पारी के दौरान बढ़िया दिखाई दिए थे उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि उन्हें अपनी शुरुआत को बड़े स्कोर में तब्दील करना चाहिए था। उन्होंने कहा, “इसको देखने के दो तरीके हैं। यह सधी हुई शुरुआत थी।” उन्होंने कहा कि मेरे जैसे खिलाड़ी को प्रयास करना चाहिए था और थोड़ी देर और बैटिंग करना चाहिए थी। यही एक चीज है जिसको लेकर मैं निराश हूं।

कार्तिक ने कहा, “मैं थोड़ी और देर तक बैटिंग कर सकता था और शायद हम अंत में 15 से 20 रन ज्यादा बना लेते। शायद मैं गेम के एक महत्वपूर्ण समय में आउट हो गया। इसलिए मैं उसको लेकर खासा निराश हूं लेकिन वह एक सधी हुई शुरुआत थी और मैं विराट के साथ साझेदारी निभाकर खुश हूं।”

स्वीप शाट्स की मदद से भारतीय स्पिनरों की लय बिगाड़ी: रॉस टेलर
स्वीप शाट्स की मदद से भारतीय स्पिनरों की लय बिगाड़ी: रॉस टेलर

कार्तिक ने ये भी कहा कि शुरुआत में विकेट थोड़ा चिपचिपा था। उन्होंने कहा, “देखिए शुरुआत में, मुझे लगता है कि विकेट चिपचिपा था और आसान नहीं था। बहुत सारी गेंदें हवा में झूल रही थीं और ड्राइव करना खासा कठिन था। गेंदें बैट पर नहीं आ रही थीं। दूसरी पारी में लगा कि जैसे हम दो अलग-अलग विकेट पर खेल रहे हों। ईमानदारी से रन बनाना आसान नहीं था। गेंद मिड ऑफ और कवर्स के बाईं ओर जा रही थीं, और हम गेंदों को टाइम भी नहीं कर पा रहे थे।”