चामरा कपुगेदरा © Getty Images
चामरा कपुगेदरा © Getty Images

श्रीलंका के कार्यवाहक कप्तान चमारा कपुगेदरा का कहना है कि भारत के खिलाफ दूसरे वनडे में मिली हार के बावजूद उनके खिलाड़ियों के जज्बे ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि वे मौजूदा सीरीज में जीत हासिल कर सकते हैं। कपुगेदरा ने इस बात से इनकार किया कि टीम का मनोबल गिरा हुआ है। उन्होंने कहा कि श्रीलंका ने मौजूदा सीरीज में पहली बार लय हासिल की और जल्द ही वे भारतीयों के खिलाफ जीत का स्वाद भी चख सकते थे।

उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि हम जूझ रहे हैं। मुझे लगता है कि टीम का माहौल बहुत बढ़िया है। हम जिस तरह से खेले, उससे हमारा आत्मविश्वास बढ़ा है। हम एकजुट हैं और उम्मीद करते हैं कि हम जीत दर्ज करेंगे। पिछले मैच के प्रयास को देखते हुए हमें भरोसा है कि हम जीत सकते हैं। हम काफी अच्छा खेले।” स्पिनर अकिला धनंजय ने अपने शानदार प्रदर्शन से एकतरफा मैच में श्रीलंका की जबरदस्त वापसी कराई थी लेकिन महेंद्र सिंह धोनी के अनुभव ने भारत को दूसरे वनडे में तीन विकेट से जीत दिला दी। दबाव में अच्छा खेलने के धोनी के अनुभव की बदौलत ही भारत ने दूसरे मैच में जीत हासिल की। [ये भी पढ़ें: श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे में सीरीज ‘सील’ करने उतरेगी टीम इंडिया]

कपुगेदरा ने दनंजय की तारीफ करते हुए कहा, “अकिला दनंजय ने शानदार प्रयास किया। हमें एक कदम सही रखना होता है और फिर चीजें हमारे पक्ष में होने लगती है। मैच हारकर हम निराश जरूर हैं लेकिन हमें मैच से केवल सकारात्मक बातें लेनी हैं। हम कोई नकारात्मक ख्याल नहीं चाहते। उम्मीद है कि खिलाड़ी आगे आएंगे और अपना काम करेंगे।” धीमी ओवर रेट के चलते उपुल थंरगा पर दो मैचों का बैन लगने के बाद कपुगेदरा श्रीलंका टीम की कप्तानी संभालेंगे।

इस नई जिम्मेदारी को लेकर उनका कहना है कि, “मैने अपनी स्कूल टीम की कप्तानी की है और मैं क्लब और दूसरी टीमों का कप्तान भी रहा हूं। मैने घरेलू टूर्नामेंट में भी कप्तानी की है। अपनी राष्ट्रीय टीम की कप्तानी करना मेरे लिए गर्व की बात है। मै ये मौका पाकर काफी खुश हूं, ये मेरे लिए बड़ी चुनौती है और मैं इसके लिए तैयार हूं। हमने जो भी चीजें सोची हैं उनका अभ्यास करना जरूरी है।” पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज और टेस्ट कप्तान दिनेश चांडीमल के होते हुए भी कपुगेदरा को कार्यवाहक कप्तान बनाने का फैसला कुछ अजीब है। वहीं तीसरे वनडे में चांडीमल के खेलने तो लेकर अब भी संशय बना हुआ है। [ये भी पढ़ें: गौतम गंभीर ने की पंचकूला हमले की निंदा, सुनाई खरी-खरी]

कपुगेदरा ने कहा, “हमने अब तक टीम को लेकर बातचीत नहीं की है। हम अब भी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। अभी ये कहना मुश्किल है कि कौन सा खिलाड़ी किस स्थान पर बल्लेबाजी करेगा। चांडीमल और लाहिरू थिरिमाने को धनुष्का के चोटिल होने और थंरगा पर बैन लगने की वजह से टीम में लाया गया है। पिछले मैच में हमने योजना के हिसाब से टीम तैयार की थी। हम अभी बाकी तीनों मैचों के बारे में नहीं सोच रहे हैं बल्कि हमारा सारा ध्यान अगला मैच जीतने पर है।” श्रीलंका को 2019 विश्व कप में क्वालिफाई करने के लिए दो वनडे मैच जीतना जरूरी है। ऐसे में तीसरा वनडे मैच मेजबान टीम के लिए काफी अहम है।