×

मैं ज्यादा नहीं बोलता क्योंकि मेरा काम ही बोलेगा: चेतन शर्मा

BCCI ने पूर्व क्रिकेटर चेतन शर्मा को टीम इंडिया की नई चयनसमिति का मुख्य चयनकर्ता चुना है।

चेतन शर्मा (Twitter)

गुरूवार को बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज चेतन शर्मा को सीनियर राष्ट्रीय चयन पैनल का अध्यक्ष नियुक्त किया। पद पर नियुक्त होने के बाद दिए पहले बयान में शर्मा ने कहा कि उनका काम उनके लिए बोलेगा।

शर्मा (54 वर्ष) ने पीटीआई से कहा, ‘‘भारतीय क्रिकेट की एक बार फिर से सेवा करने का मौका मिलना निश्चित रूप से मेरे लिये सम्मान की बात है। मैं ज्यादा नहीं बोलता क्योंकि मेरा काम ही बोलेगा। मैं इस मौके के लिये केवल बीसीसीआई का शुक्रिया करता हूं।’’

सीएसी ने पांच सदस्यीय टीम में मुंबई के अबे कुरूविला और ओडिशा के देबाशीष मोंहती का भी चयन किया। बीसीसीआई की यहां 89वीं सालाना आम बैठक के मौके पर ही नए पैनल का गठन किया गया जिसमें शर्मा ने उत्तरी क्षेत्र से मनिंदर सिंह और विजय दहिया को पछाड़ दिया।

पूर्व मध्यम गति के गेंदबाज कुरूविला को मुंबई क्रिकेट संघ के बड़े अधिकारियों का समर्थन प्राप्त था, उन्हें पश्चिम क्षेत्र से अजीत अगरकर पर तरजीह दी गई। ओडिशा के पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज मोहंती पिछले दो वर्षों से जूनियर राष्ट्रीय चयनकर्ता के तौर पर काम कर रहे थे और केवल दो साल के लिये समिति में बने रहेंगे।

Chetan Sharma बने भारतीय क्रिकेट टीम के नए मुख्‍य चयनकर्ता, सुनील जोशी की लेंगे जगह

चयन पैनल में पूर्व भारतीय खिलाड़ी सुनील जोशी (दक्षिण क्षेत्र) और हरविंदर सिंह (मध्य क्षेत्र) भी शामिल हैं। बीसीसीआई सचिव जय शाह ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘‘समिति ने वरिष्ठता (टेस्ट मैचों की कुल संख्या) के आधार पर सीनियर पुरूष चयन समिति के मुख्य चयनकर्ता के लिये चेतन शर्मा की सिफारिश की। सीएसी एक साल के बाद उम्मीदवारों की समीक्षा करेगी और बीसीसीआई को सिफारिश करेगी।’’

बीसीसीआई के संविधान के अनुसार सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने वाला उम्मीदवार मुख्य चयनकर्ता बनता है। पूर्व भारतीय खिलाड़ी शर्मा 11 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में 23 टेस्ट और 65 वनडे में देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं जिसमें 1987 विश्व कप में हैट्रिक लेना चर्चित उपलब्धि है।

शर्मा ने 16 साल की उम्र में हरियाणा के लिये प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलना शुरू किया। उन्होंने 18 वर्ष की उम्र में टेस्ट पदार्पण किया जिससे एक साल पहले उन्होंने दिसंबर 1983 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना वनडे आगाज किया था।

trending this week