Cheteshwar Pujara: Current Indian Test team is definitely the best squad I’ve been a part of.
Cheteshwar Pujara © AFP

ऑस्ट्रेलिया में भारत की पहली टेस्ट सीरीज जीत के सूत्रधार रहे चेतेश्वर पुजारा ने मौजूदा भारतीय टेस्ट टीम को सर्वश्रेष्ठ बताया है। सीरीज में तीन शतक लगाने वाले पुजारा को प्लेयर ऑफ द सीरीज का खिताब मिला।

प्रेसेंटेशन के दौरान अपने शानदार प्रदर्शन के बारे में पुजारा ने कहा, “बतौर बल्लेबाज आपको गति और उछाल की आदत डालनी होती है। दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, काउंटी क्रिकेट के अलग अलग हालातों में खेलने से मेरी तकनीक बेहतर हुई है। मेरे लिए सही तैयारी जरूरी है। अब तक मैं जिन टीमों का हिस्सा रहा हूं उनमे से निश्चित तौर पर ये सर्वश्रेष्ठ स्क्वाड है।”

ये भी पढ़ें:ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतना मेरी सबसे बड़ी उपलब्धि: विराट कोहली

इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के दौरों पर हार के बाद भारत ने आखिरकार विदेशी दौरे पर जीत हासिल कर ही ली। पुजारा ने इस जीत को खास बताया, उन्होंने कहा, “ये हम सबके लिए शानदार एहसास है। हम विदेश में जीत हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे थे और खासकर कि इस देश में जीतना कभी आसान नहीं होता है।”

शीर्ष क्रम बल्लेबाज पुजारा ने अपनी तीनों शतकों में से एडिलेड में खेली 123 रनों की पारी को सबसे खास बताया। पुजारा ने कहा, “पहला शतक बहुत खास था, एडिलेड में रन बना पाना और फिर 1-0 की बढ़त लेना जिसके लिए  ही हम खेल रहे थे। जब आप ऐसा करते हैं तो सीरीज जीतने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए वो शतक खास था।”

ये भी पढ़ें:ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान कोहली

पुजारा ने भारतीय गेंदबाजी अटैक को जीत का श्रेय दिया। उन्होंने कहा, “गेंदबाजों को बधाई। हम चार गेंदबाजों के साथ खेले हैं और ऐसे में इतने सारे ओवर करा पाना आसान नहीं होता। 20 विकेट लेना कभी भी आसान नहीं होता है।”

टेस्ट क्रिकेट मेरी प्राथमिकता

टेस्ट सीरीज के खत्म होने के बाद ही टीम इंडिया 12 जनवरी से शुरू होने वाली वनडे सीरीज की तैयारी में जुट जाएगी। पुजारा चूंकि सीमित ओवर स्क्वाड का हिस्सा नहीं है, इसलिए वो भारत वापस लौटेंगे। अपने शेड्यूल के बारे में पुजारा ने कहा, “मैं घर पर कुछ प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलूंगा। आईपीएल के दौरान मैं काउंटी क्रिकेट खेलूंगा। अगली टेस्ट सीरीज 6-7 महीने बाद है। इससे मुझे तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिलेगा। मैं सफेद गेंद का क्रिकेट खेलने के लिए कड़ी मेहनत करूंगा लेकिन टेस्ट क्रिकेट मेरी प्राथमिकता है और हमेशा रहेगा।”