कुलदीप यादव ने 16 रन देकर 2 विकेट झटके  © AFP
कुलदीप यादव ने 16 रन देकर 2 विकेट झटके © AFP

रांची। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने हाल के समय में टीम की शानदार सफलता का श्रेय फॉर्मेट के मुताबिक खिलाड़ियों का चयन करने के टीम प्रबंधन के फैसले को दिया है। श्रीलंका सीरीज के शुरुआत से कलाई से गेंद घुमाने वाले स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल को टीम में बनाए रखने का फैसला भारत के लिए फायदेमंद साबित हुआ।

कोहली ने मैच के बाद प्रेजेंटेशन समारोह में कहा, ‘‘यह ना केवल खिलाड़ियों का संयुक्त प्रयास है बल्कि प्रबंधन समूह का भी है जिसने अच्छे सुझाव दिए। फॉर्मेट के मुताबिक विशेषज्ञ खिलाड़ियों को चुनना, रहस्यमयी गेंदबाज (कुलदीप) को चुनना, उनमें आत्मविश्वास जगाना। वे एक गेम में रन दे सकते हैं लेकिन वे हमेशा पलटवार करेंगे।’’ भारतीय कप्तान ने भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की भी तारीफ की। विराट ने शिखर धवन के अपनी पत्नी की बीमारी के बाद छुट्टी से लौटने पर भी खुशी जताई।

वनडे सीरीज से बाहर रहने के बाद टीम में वापसी कर रहे शिखर धवन को लेकर कोहली ने कहा, “धवन श्रीलंका में अच्छा खेला था। वह एक प्रभावशाली खिलाड़ी हैं और हमें उसकी जरूरत है।” सीरीज का दूसरा टी20 मैच गोवाहाटी में 10 अक्टूबर को खेला जाएगा। रांची टी20 में 9 विकेट से जीत हासिल करने के दौरान कोहली बारिश के बाद डकवर्थ लुइस नियम से भारत को मिले लक्ष्य से खुश नहीं थे। मैच के बाद संजय मांजरेकर से बातचीत में उन्होंने कहा, “डीआरएस मुझे ज्यादा समझ नहीं आता लेकिन हमने सोचा था कि हमें 6 ओवर में 42 रन के करीब लक्ष्य मिलेगा लेकिन हमें 48 रनों का लक्ष्य दिया गया। इस तरह के मैचों में छोटे लक्ष्य का पीछा करना मुश्किल हो सकता है।”

[ये भी पढ़ें: रांची टी20 में टीम इंडिया की जीत, ऑस्ट्रेलिया को 9 विकेट से हराया]

कोहली पहले भारतीय कप्तान नहीं हैं जिन्होंने डकवर्थ लुइस के प्रति नाराजगी जताई है। महेंद्र सिंह धोनी ने भी कई बार ये कहा है कि उन्हें ये नियम बिल्कुल समझ नहीं आता इसलिए वह अंपायर के फैसले का इंतजार करते हैं। कोहली भले ही डीएलएस से नाराज हों लेकिन वह अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन को लेकर काफी खुश हैं। कोहली ने कहा, “टॉस जीतने के बाद हमें गेंदबाजों से जिस तरह के प्रदर्शन की उम्मीद थी उन्होंने वैसा ही किया। भुवी ने हमे शुरुआती सफलता दिलाई, बुमराह ने आखिरी ओवरों में विकेट लिए और दोनों स्पिनरों ने बीच के ओवरों में विकेट निकाले। सभी ने मिलकर काम किया।” कोहली ने कहा कि रिस्ट स्पिनर खेल का रुख बदल सकते हैं।