Chris Gayle: There’s nothing to prove but it would be nice to win World Cup
क्रिस गेल © Getty Images

साल 1975 और 1979 में विश्व कप विजेता बन चुकी वेस्टइंडीज टीम इंग्लैंड में आयोजित टूर्नामेंट में बतौर डार्क हॉर्स हिस्सा ले रही है। सभी विपक्षी टीमें जानती हैं कि अपने दिन पर विंडीज टीम किसी भी टीम को हरा सकती है। हालांकि खिताब जीतने के लिए वेस्टइंडीज को कई और चीजों पर काम करना होगा।

वेस्टइंडीज के सीनियर बल्लेबाज और उप कप्तान क्रिस गेल का कहना है कि उनकी टीम यहां कुछ साबित करने नहीं आई है लेकिन अगर वो ट्रॉफी जीत पाए तो ये बहुत अच्छा होगा। अपना आखिरी वनडे विश्व कप खेलने वाले गेल ने कहा, “यहां किसी को कुछ साबित करने के लिए नहीं है, एकलौती चीज जो अच्छी होगी वो है विश्व कप जीतना।”

वनडे में 10,000 से ज्यादा रन बना चुके गेल अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं, जिससे बड़े बड़े गेंदबाज डरते हैं। गेल भी अपने इस खौफ का खूब आनंद लेते हैं। उन्होंने माना कि को पहले जितने तेज नहीं लेकिन फिर भी उतने ही खतरनाक हैं।

विश्व कप अभ्यास मैच से बाहर हुए इयोन मोर्गन

गेल ने कहा, “ये उतना आसान नहीं है जितना पहले थे, तब मैं तेज था लेकिन वो अब भी चिंता करेंगे। उन्हें पता है कि यूनिवर्स बॉस क्या कर सकता है। मुझे यकीन है कि उनके दिमाग में ये बात होगी कि ‘अरे, ये तो क्रिकेट का सबसे खतरनाक बल्लेबाज है’। जाइए उनसे कैमरे पर पूछिए, वो मना करेंगे, नहीं वो डरे हुए नहीं है लेकिन कैमरा बंद करके पूछेंगे तो वो कहेंगे कि ‘हां, वो खतरनाक है’।”

2009 टी20 विश्व कप के दौरान ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ब्रेट ली के खिलाफ गगनचुंबी छक्के लगाने वाले गेल ने आगे कहा, “मैं हमेशा ही तेज गेंदबाजों के खिलाफ मुकाबले का मजा लेता हूं, ये अच्छा है। कभी कभी इस तरह की चीजें आपको प्रेरित करती हैं। जब आपके पास एक युद्ध होता है, मुझे ये चुनौतियां पसंद हैं।”

विश्व कप के इतिहास में पहली बार हर टीम से साथ रहेगा एक एसीयू अधिकारी

विंडीज टीम 26 मई को ब्रिस्टल में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहला अभ्यास मैच खेलेगी, जहां फैंस गेल और प्रोटियाज तेज गेंदबाजों का जबरदस्त मुकाबला देख पाएंगे।