Chris Woakes: Even if you feel like you’ve got a good chance to being in World Cup squad, it’s not quite set until you hear it from selectors
क्रिस वोक्स (Getty images)

पाकिस्तान के खिलाफ वनडे सीरीज में 4-0 से शानदार जीत दर्ज करने के बाद इंग्लैंड का अगला पड़ाव विश्व कप है। इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड सीरीज के खत्म होने के बाद फाइनल विश्व कप स्क्वाड का ऐलान कर सकता है। इस सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को विश्व कप स्क्वाड में जरूर प्रायिकता दी जाएगी लेकिन जब तक चयनकर्ता खुद ऐलान ना कर दें किसी को भी स्क्वाड में चुने जाने पर भरोसा नहीं होगा, ऐसा कहना है इंग्लिश गेंदबाज क्रिस वोक्स का।

हेडिंग्ले वनडे के बाद वोक्स ने कहा, “सभी कल अपने अपने फोन पर नजर रखेंगे। सभी को उस फोन कॉल का इंतजार होगा। अगर आपको लगता भी है कि आपके स्क्वाड में शामिल होने की अच्छी खासी संभावना है, तो भी जब तक आप चयनकर्ताओं के मुंह से नहीं सुन लेंगे आपको भरोसा नहीं होगा।”

विश्व कप स्क्वाड का ऐलान करते हुए इंग्लैंड टीम के सामने सबसे बड़ा सवाल है-जोफ्रा आर्चर। आर्चर को प्रारंभिक स्क्वाड का हिस्सा नहीं बनाया गया था लेकिन फाइनल स्क्वाड में उनकी जगह बन सकती है। लेकिन सवाल ये है कि उन्हें किस खिलाड़ी की जगह दी जाएगी। इंग्लिश कप्तान इयोन मोर्गन पहले ही कह चुके हैं कि 17 खिलाड़ियों के इस वनडे स्क्वाड को घटाकर 15 तक लाना मुश्किल काम है।

इंग्लैंड के खिलाफ हार के बाद मिकी आर्थर ने पाकिस्तान की फील्डिंग पर चिंता जताई

इस पर वोक्स ने कहा, “बतौर खिलाड़ी आप थोड़ा परेशान होंगे, खासकर कि इन 16-17 खिलाड़ियों से। सभी ने इस सीरीज में किसी ना किसी समय अच्छा प्रदर्शन किया है। चयनकर्ताओं के लिए ये मुश्किल फैसला है और मुझे खुशी है कि मुझे ये फैसला नहीं लेना पड़ रहा है। ये करना ही होगा।”

वोक्स का मानना है कि विश्व कप स्क्वाड में जगह बनाने की प्रतिद्वंदिता ने खिलाड़ियों से उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करवाया है। उन्होंने कहा, “इसने जाहिर तौर पर सभी को आगे बढ़कर सुधार करने के लिए प्रेरित किया है, ये निश्चित करने के लिए वो अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखा रहे हैं, ये निश्चित करने के लिए कि वो अभ्यास में सब सही कर रहे हैं। जब भी आपको अभ्यास सेशन में गेंदबाजी करने का मौका मिलता है या फील्ड में बल्लेबाजी करने का आप लगातार ये महसूस करते हैं, ऐसा नहीं है कि ये ऑडीशन है लेकिन ये अपनी काबिलियत दिखाने का एक मौका है। इसने सभी को सुधार करने के लिए प्रेरित किया है और ये पूरी सीरीज के दौरान हमारे प्रदर्शन में दिखा है।”