Christiano Ronaldo inspires me; Says Virat Kohli
Virat Kohli with Christiano Ronaldo

फुटबॉल के मुरीद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि वह पुर्तगाली स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो से प्रेरणा लेते हैं जिन्होंने अपने बेमिसाल अनुशासन से अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी की तुलना में अधिक चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना किया है।

पढ़ें: सबसे तेज 24 टेस्‍ट शतक के जड़ने के मामले में कोहली से आगे निकले स्मिथ

रोनाल्डो और कोहली दोनों ने फिटनेस के मामले में नए मानदंड कायम किए हैं।

वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज खेलने फ्लोरिडा पहुंचे कोहली ने ‘फीफा डॉट कॉम’ से कहा, ‘मेरे लिए क्रिस्टियानो सबसे ऊपर हैं। उनकी प्रतिबद्धता और अनुशासन लाजवाब है। आप हर मैच में देख सकते हैं। मैं हर उस क्लब का समर्थन करता हूं, जिसके लिए वह खेलते हैं। वह मुझे प्रेरित करते हैं।’

‘मेसी की तुलना में रोनाल्‍डाेे का करियर ग्राफ बेहतर रहा’  

मेसी बनाम रोनाल्डो की कभी खत्म नहीं होने वाली बहस में शामिल होते हुए कोहली ने कहा कि बार्सीलोना के स्टार स्ट्राइकर मेसी की तुलना में रोनाल्डो का कैरियर ग्राफ बेहतर रहा है।

उन्‍होंने कहा, ‘मेरे हिसाब से रोनाल्डो ने अधिक चुनौतियों का सामना किया है और उनमें सफल रहे हैं। वह अधिक मुकम्मिल खिलाड़ी हैं और लोगों को प्रेरित करते हैं। बहुत लोग ऐसा नहीं कर पाते। वह कप्तान भी हैं और मैं इस बात का कायल हूं। उनका आत्मविश्वास गजब का है।’

पढ़ें: ‘महेंद्र सिंह धोनी को नंबर-7 पर भेजने का फैसला मेरा नहीं था’

भारतीय कप्तान ने कहा कि बचपन में वह ब्राजील के रोनाल्डो, रोनाल्डिन्हो, जर्मन गोलकीपर ओलिवर कान, मेसी, क्रोएशिया के लुका मोडरिच और स्पेन के आंद्रियास इनिएस्ता और जावी के प्रशंसक थे।

कोहली की पसंदीदा फुटबॉल यादों में 1998 और 2002 विश्व कप हैं। उन्होंने कहा, ‘ब्राजील को इन दोनों टूर्नामेंटों में देखना अद्भुत था। रोनाल्डो के कौशल से मैं दंग रह गया। वह महानतम खिलाड़ियों में से हैं।’

‘भारतीय फुटबॉल टीम विश्‍व कप के लिए क्‍वालीफाई करने से ज्‍यादा दूर नहीं’  

भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत विश्व कप के लिए क्वालीफाई करेगा।

उन्होंने कहा, ‘हम बहुत पीछे नहीं हैं। पिछले तीन-चार साल में हमारी फुटबॉल में काफी सुधार आया है। नई प्रतिभाएं सामने आ रही हैं और सुनील छेत्री बखूबी टीम की कप्तानी कर रहे हैं। वह विश्व कप खेलने के हकदार हैं। टीम को उनके लिए क्वालीफाई करना चाहिए। वह चैंपियन हैं और शानदार इंसान भी।’