विराट कोहली और अनिल कुंबले © AFP
विराट कोहली और अनिल कुंबले © AFP

भारतीय टीम के कोच पद से अनिल कुंबले के इस्तीफा देने के बाद एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। खबरें आ रहीं हैं कि कुंबले और विराट कोहली के बीच मनमुटाव इतना ज्यादा हो गया था कि दोनों के बीच 6 महीने से बातचीत बंद थी। दोनों के बीच बिल्कुल भी बात नहीं होती थी और ये सिलसिला लगभग 6 महीने से चल रहा था। हालांकि बीसीसीआई ने दोनों के बीच मतभेद को सुलझाने की पूरी कोशिश की, लेकिन बीसीसीआी को सफलता नहीं मिल पाई और आखिरकार कुंबले को जाना पड़ा। ये भी पढ़ें: अनिल कुंबले-विराट कोहली विवाद पर बीसीसीआई ने उठाया बड़ा कदम

खबरें इस बात की भी थीं कि सीएसी ने कुंबले को बतौर कोच जारी रखने की दोबारा मंजूरी दे दी थी, लेकिन इसमें कहा गया था कि कुंबले को कोहली के साथ सारे मतभेद खत्म करने होंगे। मामले पर बीसीसीआई के एक बड़े अधिकारी ने बताया कि चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम की हार के बाद 3 बैठकें हुईं। पहली बैठक में कुंबले और बीसीसीआई के वरिष्ठ अधिकारी समेत सीएसी के सदस्य थे। तो दूसरी बैठक में कोहली को शामिल किया गया। तीसरी बैठक में कुंबले और कोहली दोनों को साथ लाया गया। हालांकि तीसरी बैठक से कुछ हासिल नहीं हुआ क्योंकि इस दौरान कोहली-कुंबले में कोई बातचीत नहीं हुई।

अधिकारी ने ये भी कहा कि लगभग दिसंबर से दोनों के बीच बातचीत बंद है। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खत्म होने के बाद से दोनों एक-दूसरे से बात भी नहीं करते थे। लंदन में जब बैठक हुई तो दोनों ने इस बात को माना कि ऐसे बिल्कुल भी नहीं चल सकता। आपको बता दें कि 20 जून को कुंबले ने अपना इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफा देने के बाद उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था कि कोहली को उनकी शैली और कोच बने रहना पसंद नहीं है।