कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण इस समय दुनिया भर में सभी खेल प्रतियोगिताएं या तो स्थगित कर दी गई हैं या उन्हें रद्द कर दिया गया है. भारत सहित कई अन्य देशों में इस समय लॉकडाउन घोषित है. खिलाड़ी अपने घरों में कैद होने को मजबूर हैं. कोरोना से छिड़ी इस जंग में दुनिया भर के एथलीट जरूरमंदों को आर्थिक सहायता दे रहे हैं. इंग्लैंड के विश्व कप विजेता ऑलराउंडर बेन स्टोक्स कोरोना महामारी का मुकाबला कर रहे अस्पतालों और चैरिटी के लिए धन जुटाने के मकसद से पहली बार हाफ मैराथन में दौड़ेंगे.

Coronavirus : बॉल की चमक को बरकरार रखने के लिए Kookaburra ने तैयार किया ‘वैक्स एप्लिकेटर’

स्टोक्स ने इंस्टाग्राम पर वीडियो संदेश में कहा कि वह खुद को ‘क्रिकेट गार्डन मैराथन टीम’ कहने वाले उन तीन व्यक्तियों से प्रभावित हैं जिन्होंने अपने घर के पिछवाड़े में फुल मैराथन दौड़कर ब्रिटेन की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा और ‘चांस टू शाइन ’ फाउंडेशन के लिए धन एकत्र किया .उन्होंने कहा, ‘मैं हमेशा से हाफ मैराथन दौड़ना चाहता था लेकिन कभी मौका नहीं मिला. अब लॉकडाउन के बीच बाहर जाकर इस तरह धन जुटाने का यह अच्छा अवसर है.’ स्टोक्स ने स्वीकार किया कि वह 8 किलोमीटर से ज्यादा कभी नहीं दौड़े.

 

View this post on Instagram

 

🌈🌈🌈 link in my story SWIPE UP

A post shared by Ben Stokes (@stokesy) on May 3, 2020 at 6:44am PDT

उन्होंने यह भी कहा ,‘मुझे उम्मीद है कि इससे लोगों को क्रिकेट गार्डन मैराथन को दान देने की प्रेरणा मिलेगी.’ चांस टू शाइन एक राष्ट्रीय क्रिकेट चैरिटी है, जो हर साल इंग्लैंड एंड वेल्स में प्राथमिक विद्यालयों के एक चौथाई में क्रिकेट कोचिंग सत्र का आयोजन करती है.