कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें एडिशन को 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। पहले इसका आयोजन 29 मार्च से होना था। कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए दुनिया में लगभग सभी खेल प्रतियोगिताएं इस समय स्थगित कर दी गई हैं जिसमें टोक्यो ओलंपिक भी शामिल है। मौजूदा हालात को देखकर कहा जा सकता है आईपीएल 2020 रद्द होने के अधिक आसार हैं। इस समय भारत में 21 दिन का लॉकडाउन है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अब अक्टूबर-नवंबर के महीने में इसे आयोजित कराने पर सोच रही है। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि बोर्ड इस पर सोच रहा है लेकिन इसके लिए जरूरी है कि आईसीसी टी-20 विश्व कप स्थगित कर दिया जाए.

IPL फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइटराइडर्स को तगड़ा झटका, इस गेंदबाज पर लगा 3 महीने का बैन

ऐसी स्थिति में खिलाड़ी अपनी फ्रेंचाइजी से आगे की राह जानने पर निर्भर हैं और इसी कारण सभी फ्रेंचाइजी टीमों ने खिलाड़ियों से संपर्क बनाए रखने के लिए व्हॉट्सएप ग्रुप बनाए हैं। एक फ्रेंचाइजी के अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि खिलाड़ी स्थिति को लेकर कई तरह के सवाल पूछ रहे हैं और इसी कारण मैनेजमेंट को लगा कि व्हॉटसग्रुप बनाना सही होगा जिसमें खिलाड़ी और अधिकारी आपस में बात कर सकेंगे।

‘खिलाड़ियों के लिए मैदान पर जाना और खेलना काफी मायने रखता है’

अधिकारी ने कहा, ‘खिलाड़ियों के लिए मैदान पर जाना और खेलना यही काफी मायने रखता है। आलोचक पैसे के बारे में बात कर सकते हैं, लेकिन क्रिकेटरों के लिए घरों में बैठना और यह पक्का न होना कि वह मैदान पर कब लौटेंगे यह क मुश्किल होता है, साथ ही यह भी कि आईपीएल इस साल होगा या नहीं। मीडिया में कई तरह की बातें चल रही हैं और इसलिए यह फैसला लिया गया कि एक व्हॉट्सएप ग्रुप बनाया जाए और उनके सभी सवालों का जवाब दिया जाए।’

COVID-19: सिर्फ भारतीय खिलाड़ियों के साथ IPL 2020 के आयोजन को तैयार फ्रेंचाइजी

एक अन्य फ्रेंचाइजी अधिकारी ने कहा कि कुछ ऐसे युवा हैं जो पहली बार आईपीएल खेल रहे हैं वह लगातार स्थिति को जानने को लेकर लालायित रहते हैं। ऐसे में ग्रुप बनाना सबसे सही है।

अधिकारी ने कहा, बाहर की बातों को सुनना और आधी जानकारी हासिल करने से अच्छा है कि उन्हें सही स्थिति का पता चले। हाल ही में एक युवा खिलाड़ी ने पूछा था कि आईपीएल इस साल नहीं होगा ये रिपोर्ट सही है या नहीं। इसलिए एक ऐसा ग्रुप होना सही है कि जिसमें प्रबंधन भी है।’

कोविड-19 महामारी से दुनिया भर में अब तक 40 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है 

कोरोनावायरस की चपेट में आकर दुनियाभर में लगभग 40 हजार से अधिक लोगों की अपनी जान गंवा दी है वहीं इससे संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 8 लाख से अधिक हो गई है. भारत में अब तक 40 लोगों की इसकी चपेट में आकर मौत हो चुकी है जबकि इससे संक्रमित मरीजों की संख्या 1600 के आसपास पहुंच चुकी है.