‘श्रीलंकाई टीम पर आतंकी हमले की तरह ही फिक्सिंग ने भी पाक क्रिकेट को किया तबाह’
pakistan team (file image)

पाकिस्तान के दिग्गज बल्लेबाज जहीर अब्बास ने कहा है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने देश के क्रिकेट में भ्रष्टाचार से निपटने में ‘नरम’ रवैया अपनाया है जिसने देश में खेल को उतना ही नुकसान पहुंचाया जितना 2009 में श्रीलंका टीम पर आतंकी हमले ने पहुंचाया था।

लॉकडाउन की वजह से टूटेगी लय लेकिन बेसिक्स नहीं भूलूंगा : बाबर आजम

पाकिस्तान का यह पूर्व कप्तान खेलों में फिक्सिंग को अपराध की श्रेणी में लाने के सरकार से पीसीबी के आग्रह पर प्रतिक्रिया दे रहा था।

अब्बास ने कहा, ‘यह पाकिस्तान बोर्ड का सही कदम है क्योंकि काफी लंबे समय से भ्रष्टाचार के मामलों से निपटने में हमारा रवैया नरम रहा है और इसके कारण कई प्रकरण सामने आए जिसने हमारी छवि को काफी नुकसान पहुंचाया और हमारी क्रिकेट प्रगति को भी प्रभावित किया।’

उन्होंने कहा, ‘श्रीलंका की टीम बस पर आतंकी हमले ने अगर पाकिस्तान क्रिकेट को बड़ा नुकसान पहुंचाया और हम स्वदेश से बाहर खेलने को बाध्य हुए तो इन भ्रष्टाचार प्रकरणों ने भी वर्षों से हमारे क्रिकेट को कम नुकसान नहीं पहुंचाया।’

अब्बास ने कहा कि फिक्सिंग को आपराध की श्रेणी में लाने के लिए कानून बनाने का प्रयास बोर्ड को काफी पहले करना चाहिए था क्योंकि इससे हाल के समय में सामने आए स्पॉट फिक्सिंग के मामले नहीं होते।

अजहरूद्दीन की तरह सलीम मलिक को भी मिलना चाहिए मौका : इंजमाम उल हक

उन्होंने कहा, ‘अंत में नुकसान पाकिस्तान क्रिकेट का हुआ क्योंकि हमने अच्छे खिलाड़ी गंवा दिए और इससे भी अधिक हमने क्रिकेटरों को गलत संदेश दिया।’