कोविड-19 महामारी को पराजित करने के लिए इस समय पूरा देश एकजुट है. भारत सरकार ने देश में 21 दिन का लॉकडाउन कर रखा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि वे अपने घरों में ही रहें. भारत में कोरोना वायरस (Corona Virus) के कारण मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर शुक्रवार को 17 हो गई और संक्रमित मामले 724 पर पहुंच गए. दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कोविड 19 महामारी से निपटने के लिए 50 लाख रुपये दान दिए हैं.

भारत के प्रमुख खिलाड़ियों में से यह अब तक सबसे बड़ी दान राशि है. कइयों ने अपनी तनख्वाह देने का ऐलान किया है जबकि कइयों ने चिकित्सा उपकरण दिए हैं. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने 50 लाख रुपये के चावल गरीबों में बांटने का ऐलान किया था.

एक सूत्र ने बताया, ‘सचिन तेंदुलकर ने 25 लाख प्रधानमंत्री राहत कोष और 25 लाख रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का फैसला किया है. वह दोनों में अपना योगदान देना चाहते थे.’

मोहम्‍मद शमी की फैन्‍स से अपील, देश को बचाना है तो ‘घर बैठो इंडिया’

युसूफ और इरफान पठान ने बड़ौदा पुलिस और स्वास्थ्य विभाग को 4000 फेसमास्क दिए हैं. पहलवान बजरंग पूनिया और फर्राटा धाविका हिमा दास ने अपना वेतन देने का ऐलान किया है. रियो ओलंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट महिला शटलर पीवी सिंधू ने गुरुवार को  कुल10 लाख रुपये दान देने का ऐलान किया था.

आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 के ऐसे मामलों की संख्या 640 है जिनमें रोगियों का उपचार चल रहा है, जबकि 66 लोग या तो स्वस्थ हो गए या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई तथा एक व्यक्ति कहीं चला गया. मंत्रालय ने बताया कि संक्रमित लोगों के कुल 724 मामलों में 47 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.

आज ही के दिन अजहरुद्दीन ने लिया था वो फैसला जिसने बदल दिया था सचिन तेंदुलकर का करियर

कोविड-19 के कारण विश्व में अब तक 21 हज़ार मौतें हो चुकी हैं. संक्रमित लोगों की संख्या करीब 5 लाख पहुंच गई है. अमेरिका में भी कोरोना ने हाहाकार मचा दिया है. यहां एक दिन में 250 से अधिक मौतें हुई हैं. ये वायरस कब थमेगा, किसी को नहीं पता, दुनिया अब तक इसका तोड़ नहीं निकाल पाई है.