Cricket Australia prohibits use of saliva, sweat to shine the ball
ऑस्ट्रेलिया टेस्ट (IANS)

ऑस्ट्रेलिया में कोविड-19 महामारी के बाद जब क्रिकेट अभ्यास शुरू होगा , तब गेंद को चमकाने के लिए लार या पसीने के इस्तेमाल की इजाजत नहीं होगी। इस महामारी के बाद खेलों की वापसी को लेकर ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने जो खाका तैयार किया उसमें दिए गए सुझाव में ये शामिल है।

ऐसी अटकलें हैं कि आईसीसी भी इसके संक्रमण के जोखिम को कम करने के मकसद से गेंद को चमकाने के लिए लार का उपयोग बंद करने पर विचार कर रहा है। आईसीसी लाल गेंद को चमकाने के लिए अंपायरों की देखरेख में कृत्रिम पदार्थों के उपयोग की अनुमति देने की संभावना पर विचार कर रहा है।

ईएसपीएन क्रिकइंफो के मुताबिक ऑस्ट्रेलियाई खेल संस्थान (एआईएस) ने चिकित्सा विशेषज्ञों, खेल निकायों के अलाव संघीय और राज्य सरकारों के परामर्श से ने दिशानिर्देश जारी किये है , जिनमें गेंद को चमकाने के लिए पसीना और लार के उपयोग पर प्रतिबंध की बात कही गई है।

बेन स्टोक्स ने कहा- स्टीव स्मिथ ‘अजीब’ है, लेकिन ‘प्रतिभाशाली’ भी

इस दिशा-निर्देश में खेलों की तीन चरण (ए, बी और सी) में वापसी का जिक्र है। मौजूदा समय में खेलों पर जो रोक है वो ‘ए’ स्तर की है जिसमें व्यक्तिगत अभ्यास के अलावा हर चीज पर बैन है।

एक सप्ताह से कुछ अधिक समय के बाद प्रतिबधों को बी स्तर का कर दिया जाएगा जहां सीमित संख्या में अभ्यास की इजाजत होगी। इस दौरान गेंद पर लार या पसीने के इस्तेमाल पर रोक जारी रहेगा।

तीसरी और आखिरी चरण (सी) में पूर्ण अभ्यास की छूट होगी लेकिन इसमें भी न गेंद पर लार या पसीने के इस्तेमाल पर रोक जारी रहेगा। दिशा-निर्देश में कोविड-19 बीमारी के किसी भी लक्षण वाले खिलाड़ी को अभ्यास से दूर रहने की सलाह दी गयी है।