Cricket Australia releases official statement on Al Jazeera fixing claims

अल ज़जीरा चैनल ने एक और डॉक्यूमेंट्री जारी कर दावा किया है कि चार ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने कथित तौर पर 2011 और 2012 के बीच अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों में फिक्सिंग की थी। साथ ही सात इंग्लिंश क्रिकेटरों और तीन पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर भी यही आरोप लगाए।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड ने आज एक आधिकारिक बयान जारी कर अल ज़जीरा के सभी दावों को खारिज किया है। बता दें कि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने चैनल के लगाए आरोपों को साफ तौर पर झूठा बता चुका है। वहीं आईसीसी मामले की जांच में लगी हुई है लेकिन उन्हें चैनल की ओर से कोई मदद नहीं मिली है।

सीए ने अपने आधिकारिक बयान में कहा, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया खेल की अखंडता को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करने वाले, गलत और गैरकानूनी सलाह देने वाले के खिलाफ जीरो टॉलरेंस पॉलिसी अपनाता है। अल जज़ीरा की डॉक्यूमेंट्री के प्रसारण से पहले, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की इंटीग्रिटी यूनिट ने आपराधिक स्रोत से मिले अल जज़ीरा के लगाए नए दावों की समीक्षा की, और अल जज़ीरा द्वारा दी गई सीमित जानकारी से, हमारी टीम ने किसी भी मौजूदा या पूर्व खिलाड़ी द्वारा या फिर बिग बैश लीग मैचों के संबंध में भ्रष्टाचार के किसी भी मुद्दे की पहचान नहीं की है।

हमें खेल की रक्षा करने में हमारे खिलाड़ियों पर पूर्ण विश्वास है, और हम किसी भी नई जानकारी के बारे में सूचित रहने के लिए एसीए के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। हमें दी गई सामग्री को आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी यूनिट को सौंप किया गया है और हम खेल की अखंडता सुनिश्चित करने के लिए उनके साथ काम करना जारी रखेंगे। हम अल जज़ीरा से आग्रह करते हैं कि सभी गैर-संपादित सामग्री और जो भी सबूत उनके पास हैं, वो आईसीसी भ्रष्टाचार विरोधी यूनिट को दें।

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट अपने स्पोर्ट्स इंटीग्रिटी मैनेजमेंट के साथ सक्रिय है और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की इंटेग्रिटी यूनिट, ऑस्ट्रेलिया में बीबीएल और डब्ल्यूबीबीएल मैचों सहित ऑस्ट्रेलिया में सभी घरेलू क्रिकेट की निगरानी और रखरखाव करता है। इसके अलावा, प्रत्येक ऑस्ट्रेलियाई सीज़न की शुरुआत से पहले, सभी पेशेवर क्रिकेटरों को सीए की घरेलू प्रतियोगिताओं में प्रतिस्पर्धा करने से पहले भ्रष्टाचार विरोधी शिक्षा सत्रों में भाग लेने की आवश्यकता होती है।