cricket australia will not seek exemption for their cricketers but will try to get their players back home
स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर @BCCI-IPL

आईपीएल के बायो बबल में कोरोना वायरस (Coronavirus in India) की एंट्री के बाद इस टी20 लीग को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है. इस बीच इस लीग में खेलने आए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों, कोच और कॉमेंट्री टीम के सदस्यों के लिए समस्या यह है कि वे सभी अपने देश वापस नहीं लौट सकते. भारत में कोरोना वायरस की स्थिति बिगड़ने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने भारत की यात्रा करने वाले अपने नागरिकों की एंट्री पर कड़ा प्रतिबंध लगा दिया है. इस बीच ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड (CA) अपने खिलाड़ियों को लेकर चिंतित जरूर है लेकिन वह सरकार इस नियमों में छूट की मांग नहीं करेगा.

क्रिकेट आस्ट्रेलिया (CA) ने मंगलवार को कहा कि भारत से उड़ानों पर लगाए सरकार के यात्रा प्रतिबंध से वह छूट नहीं मांगेगा. लेकिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के साथ मिलकर सुनिश्चित करेगा कि देश के खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के निलंबन के बाद सुरक्षित स्वदेश लौट सकें.

जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में कोविड संक्रमण के कई मामले आने के बाद आईपीएल को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया. इसके बाद सीए और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स संघ (ACA) ने संयुक्त बयान में कहा कि वे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने के लिए योजना बनाएंगे.

संयुक्त बयान में कहा गया, ‘सीए और सीएसए कम से कम 15 मई तक भारत से यात्रा रोकने के ऑस्ट्रेलिया सरकार के फैसले का सम्मान करते हैं और कोई छूट नहीं मांगेंगे.’

इस बीच ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के फिलहाल भारत से मालदीव रवाना होने की अटकलें लगाई जा रही हैं, जहां उनके देश के पूर्व क्रिकेटर माइकल स्लेटर भी पहुंचे हुए हैं. स्लेटर भी आईपीएल में कॉमेंट्री करने आए थे लेकिन वह भारत में कोविड- 19 की बिगड़ी स्थिति देखकर कॉमेंट्री टीम के बायो बबल से बाहर निकलकर मालदीव पहुंच गए. लेकिन ऑस्ट्रेलियाई सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के कारण वह स्वदेश नहीं लौट पाए हैं.