India Tour of England and Shubman Gill Injury: टीम इंडिया के युवा ओपनिंग बल्लेबाज शुबमन गिल (Shubman Gill) इंग्लैंड दौरे पर चोटिल होकर आगामी टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए हैं. गिल के बाहर होने के बाद यह चर्चाएं छिड़ गई हैं कि कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) उनके स्थान पर पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) और देवदत्त पडीक्कल (Devdutt Padikkal) को बुलाने का आग्रह किया है. लेकिन भारत के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज सबा करीम (Saba Karim) इसे सही नहीं मानते. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो इससे टीम में पहले से मौजूद खिलाड़ी ‘असुरक्षित’ महसूस करेंगे.

भारतीय टीम पहले ही एक बड़े दल के साथ इंग्लैंड दौरे पर गई है. टीम के पास रोहित शर्मा और शुबमन गिल के अलावा मयंक अग्रवाल, केएल राहुल और अभी तक अपने टेस्ट डेब्यू का इंतजार कर रहे अभिमन्यु ईश्वरन के रूप में कई रिजर्व खिलाड़ी मौजूद हैं. सबा करीम ने कहा कि ऐसे में टीम मैनेजमेंट द्वारा रिप्लेसमेंट मांगने से यहां मौजूद बाकी खिलाड़ियों में असुरक्षा की भावना पैदा होगी.

सबा करीम ने कहा कि यहां पर यह भी सवाल उठता है कि जब कोच शास्त्री इन दोनों खिलाड़ियों को अब मांग रहे हैं तो फिर जब इस दौरे के लिए टीम का चयन हो रहा था, तब पहली योजना के साथ ही इन खिलाड़ियों को क्यों नहीं चुना गया.

सबा करीम इंडिया न्यूज से इस मामले पर बात कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘मैं इसे कभी भी न्यायपूर्ण नहीं मानूंगा क्योंकि अगर आप कोई अतिरिक्त खिलाड़ी को वहां रिप्लेसमेंट के तौर पर भेजते हैं तो जो खिलाड़ी पहले से ही टीम में हैं उनमें असुरक्षा की भावना पैदा होगी.’

53 वर्षीय सबा करीम ने कहा, ‘मैं समझता हूं कि आपको सिलेक्टर्स के काम में भरोसा दिखाना चाहिए. मैं अभी भी यह नहीं मानता कि टीम मैनेजमेंट की ओर से ऐसी कोई मांग आई होगी. लेकिन अगर यह आई है तो मुझे लगता है कि यह उचित नहीं है.’

उन्होंने कहा, ‘अगर टीम को कोई रिप्लेसमेंट चाहिए तो सिलेक्टर्स के साथ इस पर चर्चा होनी चाहिए, खासतौर से चयन समिति के अध्यक्ष के साथ. लेकिन कौन सा खिलाड़ी जाएगा यह तय करने का हक सिर्फ चयनसमिति को होना चाहिए.’

करीम ने आगे कहा, ‘लेकिन सवाल यह उठता है, जब वहां पहले से इतने सारे ओपनर मौजूद हैं तो फिर यह मांग क्यों की जा रही है. हालांकि यह से अंदाजा लगाना मुश्किल है कि इसके पीछे टीम मैनेजमेंट का क्या तर्क है. हो सकता है वह इस बड़े दौरे को ध्यान में रखकर यह मांग कर रहे हों, ताकि किसी अन्य खिलाड़ी को चोट लगने पर वह उसका रिप्लेसमेंट तैयार रख सकें क्योंकि इन दिनों कोविड-19 के चलते खिलाड़ियों को किसी भी दौरे पर पहले कड़े क्वॉरंटीन नियम से गुजरना पड़ता है.’