Ashes 2021: इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज 8 दिसंबर से 18 जनवरी खेली जाएगी. इस हाईवोल्टेज शृंखला के लिए इंग्लैंड के पास जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) और बेन स्टोक्स (Ben Stokes) जैसे खिलाड़ी नहीं हैं, जो टीम के लिए चिंता की बात है, लेकिन इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइक गेटिंग (Mike Gatting) के मुताबिक उनकी टीम के पास संतुलन है. गेटिंग ने कहा है कि इंग्लैंड की टीम एशेज सीरीज में जोफ्रा आर्चर और बेन स्टोक्स को मिस करेगी लेकिन उसके पास मार्क वुड (Mark Wood), क्रिस वोक्स (Chris Woakes) और क्रैग ओवरटोन (Craig Overton) के रूप में मजबूत गेंदबाजी लाइन अप है. गेटिंग का मानना है कि इंग्लैंड के पास संतुलित तेज गेंदबाजी आक्रमण है.

गेटिंग ने कहा, “मुझे लगता है कि आर्चर और स्टोक्स की कमी खलेगी. वुड अच्छी तेज ओवर निकालने में सक्षम है. मुझे खुशी है कि वोक्स फिट हैं और एक बार फिर गेंदबाजी करेंगे. मुझे लगता है कि वह बल्ले और गेंद से एक बेहतरीन क्रिकेटर हैं.” ओवरटोन युवा हैं और उनके पास तेजी है लेकिन उनका इन विकेट पर बाउंस बड़ा फैक्टर होगा.”

हालांकि, गेटिंग का कहना है कि इंग्लैंड का आक्रमण अभी भी ऑस्ट्रेलिया तेज गेंदबाजों के आस-पास नहीं है. गेटिंग ने कहा, “यह ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण जैसा कुछ नहीं है लेकिन मुझे लगता है कि यह काफी अनुभव के साथ एक उचित अटैक है. जेम्स एंडरसन किसी भी समय किसी भी पिच पर इन दिनों एक विश्वस्तरीय गेंदबाज हैं.”

इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर को लगता है कि जो रूट की अगुवाई वाली टीम, जो दिसंबर-जनवरी में एशेज सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगी, उसको हाल के दिनों में अपने शीर्ष क्रम के बल्लेबाजी को मजबूत करना होगा.

रूट के फॉर्म को छोड़कर, इंग्लैंड का शीर्ष क्रम काफी दिनो से रन नहीं बना पा रहा है. टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज 0-1 से हार गई है, और विराट कोहली के खिलाफ पांच मैचों की घरेलू श्रृंखला में 1-2 से पीछे चल रही थी.