Shane Warne Death: सुनील गावस्कर बोले- शेन वॉर्न महान नहीं, मुरलीधरन उनसे आगे, भड़का ऑस्ट्रेलियाई मीडिया

महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न (Shane Warne) की मृत्यु के बाद दुनिया भर से उनके प्रति संवेदना व्यक्त की जा रही है और क्रिकेट जगत इसे अपूर्णीय क्षति करार दे रहा है. भारत से भी इस दिग्गज स्पिनर की मौत पर शोक जताया गया. इस बीच भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने यह बयान देकर हलचल मचा दी कि उनकी नजर में वॉर्न महान नहीं हैं क्योंकि भारत के खिलाफ उनका रिकॉर्ड साधारण है. उनकी नजर श्रीलंका के ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) वॉर्न से आगे हैं.

हालांकि सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) का यह अंदाज ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को पसंद नहीं आया और उन्होंने गावस्कर को जमकर लताड़ लगाई है. ऑस्ट्रेलिया मीडिया ने कहा कि सुनील गावस्कर की यह राय हो सकती है कि वॉर्न उनके लिए महान न हों लेकिन उन्हें कम से कम इस वक्त पर इस बात को नहीं बताना चाहिए था और उन्हें अपनी इस राय को फिलहाल दूर रखना था, जब दुनिया उनकी मौत पर अफसोस जता रही है.

शेन वॉर्न की मौत के बाद न्यूज चैनल इंडिया टूडे ने एक खास कार्यक्रम में भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) को भी आमंत्रित किया था. यहां गावस्कर से पूछा गया था कि क्या वह मानते हैं शेन वॉर्न (Shane Warne) महान गेंदबाजों में शुमार हैं. इसके जवाब में गावस्कर ने कहा, ‘नहीं मैं ऐसा नहीं कहूंगा. मेरे लिए भारतीय स्पिनर और मुथैया मुरलीधरन शेन वॉर्न (Shane Warne) से बेहतर हैं. भारत के खिलाफ शेन वॉर्न का रिकॉर्ड देखिए, यह बहुत साधारण है.’

72 वर्षीय गावस्कर ने आगे कहा, ‘भारत में उन्होंने सिर्फ एक ही बार 5 विकेट हॉल लिए, वह नागपुर टेस्ट में तब हासिल किए थे, जब उनका 5वां विकेट जहीर खान के रूप में मिला था, जो बहुत जंगली ढंग से बल्ला घुमा रहे थे. क्योंकि उन्हें भारतीय बल्लेबाजों के खिलाफ ज्यादा कामयाबी नहीं मिली, जो स्पिन के खिलाफ बहुत अच्छे हैं तो मैं नहीं समझता कि मैं उन्हें महानतम कहूंगा.’

इससे आगे उन्होंने कहा, ‘मुथैया मुरलीधरन का भारत के खिलाफ रिकॉर्ड शानदार है. तो मैं अपनी किताब में उन्हें वॉर्न से ऊपर रैंक दूंगा.’ गावस्कर के इस बयान से ऑस्ट्रेलियाई फैन्स और मीडिया गुस्से में आ गए. फॉक्स स्पोर्ट्स ने लिखा, ‘ईमानदारी से कहते हैं… यह सही समय नहीं था.’

https://twitter.com/Mendelpol/status/1500176217252708356?s=20&t=bePi9JOmthk8LtUg1DHm-w

जैक मेंडल नाम के इस शख्स ने गावस्कर पर नाराजगी जताते हुए लिखा, ‘सुनील गावस्कर ने शेन वॉर्न की मृत्यु को एक अवसर की तरह इस्तेमाल किया, जिसमें वह यह बता रहे हैं कि मुथेया मुरलीधरन और भारतीय स्पिनर बेहतर थे. क्योंकि वॉर्न का रिकॉर्ड भारत के खिलाफ खास नहीं है. ईमानदारी से कहूं, सनी, यह सही समय नहीं था. आप इसे अलग कर सकते थे. अभी तक उनका मृत शरीर ठंडा भी नहीं हुआ है.’