आर्थिक मोर्चे पर इन दिनों श्रीलंका की हालत काफी गंभीर बनी हुई है. इस बीच उसके क्रिकेट बोर्ड ने ऑस्ट्रेलियाई टीम का दौरा आयोजित करने की योजना बनाई है. श्रीलंका में इन दिनों बिजली का भारी संकट है और ईंधन की उपलब्धता पर भी वहां संकट है. इसके बावजूद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने तय किया है कि वह इस देश के इन मुश्किल हालात के बावजूद यहां का दौरा करेंगे. एक रिपोर्ट में बताया गया है कि श्रीलंका बिजली की भारी कटौती, ईंधन की कमी और कई अन्य समस्याओं से जूझ रहा है.

ऑस्ट्रेलियाई टीम 7 जून से शुरू होने वाले टेस्ट और सीमित ओवरों के दौरे को पूरा करेंगे. ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों को अगले सप्ताह तीन प्रारूपों के दौरे के लिए बाहर जाना है, जिसमें क्रिकेट.कॉम.एयू की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि खिलाड़ी आर्थिक संकट में देश के साथ श्रीलंका का समर्थन करने के तरीकों पर भी विचार कर रहे हैं.

यह छह साल में ऑस्ट्रेलिया का पहला श्रीलंका दौरा होगा और रिपोर्ट में कहा गया है कि कुछ खिलाड़ियों ने देश में राजनीतिक अशांति के बारे में चिंता व्यक्त की है. ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी बार 2016 में श्रीलंका का दौरा किया था.

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स एसोसिएशन (ACA) के सीईओ टॉड ग्रीनबर्ग को रिपोर्ट में यह कहते हुए उद्धृत किया गया था कि कुछ खिलाड़ियों ने श्रीलंका की स्थिति को देखते हुए दौरे के नैतिक और नैतिक प्रभावों के बारे में सवाल उठाए थे, लेकिन वे दौरे के लिए तैयार थे.

आखिरकार हमारे खिलाड़ी क्रिकेट खेलना जारी रखना चाहते हैं और दौरे की व्यवस्था और योजना के बारे में सीए से दिशा, मार्गदर्शन और सलाह लेंगे. दौरे की शुरुआत टी20 मैच से होगी, जिसमें तीन मैचों की सीरीज का पहला मैच 7 जून को कोलंबो में होगा. टी20 सीरीज के बाद पांच वनडे मैच होंगे, जिसकी शुरूआत 14 जून को कैंडी में होने वाले मैच से होगी.

(इनपुट: आईएएनएस)