ढाका टेस्ट में श्रीलंका ने दूसरी पारी में बांग्लादेश के 4 विकेट आउट करने के बाद अपनी स्थिति मजबूत कर ली है. चौथे दिन का खेल खत्म होने तक मेजबान बांग्लादेश ने सिर्फ 34 रन जोड़ने तक 4 विकेट गंवा दिए हैं. तमीम इकबाल और कप्तान मोमिनुल हक अपना खाता खोले बगैर पवेलियन लौट गए. उनके अलावा महमुदल हसन जॉय (15) असीथा फर्नांडो का दूसरा शिकार बने, जबकि नजमुल हुसैन शांतो (2) रन आउट हो गए. बांग्लादेश श्रीलंका की पहली पारी के आधार पर अभी भी 107 रन पीछे है.

इससे पहले श्रीलंका ने आज चौथे दिन की शुरुआत में 282/5 से आगे खेलना शुरू किया. एंजिलो मैथ्यूज ने 58 और दिनेश चांदीमल ने 10 रन के निजी स्कोर से अपनी पारी को आगे बढ़ाया और दोनों बल्लेबाज ने अपनी पारियों को बड़े शतक में तब्दील कर टीम को मजबूत स्थिति में ला दिया. मैथ्यूज ने नाबाद 145 रन ठोके, जबकि चांदीमल 124 रन पर आउट हुए. इन दोनों बल्लेबाजों ने छठे विकेट के लिए 199 रन की साझेदारी की.

इस तरह श्रीलंका की पहली पारी 506 रन पर समाप्त हुई और उसने पहली पारी के आधार पर 141 रन की बढ़त हासिल की. बांग्लादेश की टीम दूसरी पारी में एक बार फिर लड़खड़ा गई और उसने सिर्फ 23 रन पर ही अपने 4 विकेट गंवा दिए. अपनी पहली पारी में भी उसने सिर्फ 24 रन के टोटल तक 5 विकेट गंवाए थे.

हालांकि उसके लिए राहत की बात है कि एक फिर मुश्फिकुर रहीम और लिट्टन दास की जोड़ी मैदान पर है, जिन्होंने पिछली पारी में भी शतक बनाकर टीम को मुश्किल से उबारा था. बांग्लादेश को एक बार फिर इन दोनों बल्लेबाजों से मैच के 5वें दिन मैच बचाने वाली पारी की आस होगी.

आज स्टंप्स के समय मुश्फिकुर रहीम 14 रन बनाकर, जबकि लिट्टन दास 1 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे. दोनों बल्लेबाज 5वें दिन का खेल आगे बढ़ाने उतरेंगे तो श्रीलंका के गेंदबाज भी चाहेंगे कि वह मेजबान टीम को पहले दो सत्र में सस्ते में निपटाकर इस मैच को अपने नाम करने के साथ-साथ सीरीज पर भी कब्जा जमाएं. इससे पहले दो टेस्ट मैच की इस सीरीज का चट्टोग्राम में खेला गया पहला टेस्ट ड्रॉ रहा था.