Advertisement

BCCI Central Contracts: चेतेश्वर पुजारा समेत Hardik Pandya को झटका, BCCI सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में डिमोशन

BCCI Central Contracts: चेतेश्वर पुजारा समेत Hardik Pandya को झटका, BCCI सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में डिमोशन

BCCI Central Contracts, पिछली बार 28 क्रिकेटरों को केंद्रीय अनुबंध दिये गए थे लेकिन इस साल 27 खलाड़ियों को अनुबंध दिए गए हैं, जिसमें रोहित शर्मा, विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह ‘ए प्लस’ में बरकरार हैं.

Updated: March 3, 2022 9:37 AM IST | Edited By: India.com Staff
BCCI Central Contracts: अनुभवी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) और पूर्व टेस्ट उप कप्तान अंजिक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) को बीसीसीआई (BCCI) की ताजा केंद्रीय अनुबंध सूची में निचले ग्रेड में खिसका दिया गया जिसे बुधवार को बोर्ड शीर्ष परिषद द्वारा मंजूरी दी गयी थी. बीसीसीआई के ग्रेड के चार वर्ग हैं जिसमें ‘ए प्लस’ में खिलाड़ियों को सालाना सात करोड़ रुपये जबकि ए, बी और सी वर्गों में क्रमश: पांच करोड़ रुपये, तीन करोड़ रूपये और एक करोड़ रुपये दिये जाते हैं.

पिछली बार 28 क्रिकेटरों को केंद्रीय अनुबंध दिये गए थे लेकिन इस साल 27 खलाड़ियों को अनुबंध दिए गए हैं, जिसमें रोहित शर्मा, विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह ‘ए प्लस’ में बरकरार हैं. इसके अनुसार पुजारा, रहाणे और इशांत शर्मा को खराब फॉर्म के चलते अब ग्रेड बी में कर दिया गया है जो पहले ग्रेड ए में थे. इन खिलाड़ियों को श्रीलंका के खिलाफ आगामी घरेलू टेस्ट श्रृंखला से भी बाहर कर दिया गया.

पीटीआई-भाषा ने 20 जनवरी को खबर दी थी कि उन्हें निचले ग्रेड में खिसका दिया जायेगा. ग्रेड ए में पहले 10 खिलाड़ी थे जिसे अब पांच कर दिया गया है जिसमें रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, रिषभ पंत, लोकेश राहुल और मोहम्मद शमी ने अपने स्थान कायम रखे हैं.

हालांकि सबसे बड़ी गिरावट चोटों से जूझ रहे ऑल राउंउर हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) के ग्रेड में रहे, जिन्हें सूची में ग्रेड ए से सीधे ग्रेड सी में खिसका दिया गया, जिसमें सीनियर सलामी बल्लेबाज शिखर धवन हैं जो केवल एक प्रारूप (वनडे) में खेलते हैं. विवादास्पद विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा को भी टेस्ट टीम से बाहर कर दिया है, उन्हें ग्रेड बी से सी में खिसकाया गया है.

साहा ने चयन मामलों पर सार्वजनिक टिप्पणी करने के साथ बीसीसीआई अध्यक्ष और मुख्य कोच राहुल द्रविड़ पर बयान देकर केंद्रीय अनुबंध की धारा का उल्लघंन किया. उन्हें फिर भी ग्रुप सी में रखा गया है जबकि टीम प्रबंधन द्वारा स्पष्ट कर दिया गया है कि उनके फिर से भारत की ओर से खेलने की संभावना नहीं है. इसके बावजूद उन्हें एक करोड़ रूपये मिलेंगे.

हालांकि मंजूरी अभी हुई है लेकिन यह फैसला लंबे पहले ही कर दिया गया था कि प्रदर्शन नहीं कर रहे खिलाड़ियों को ग्रेड में नीचे कर दिया जायेगा. स्पिनर कुलदीप यादव और तेज गेंदबाज नवदीप सैनी पहले ग्रुप का हिस्सा थे लेकिन अब उन्हें सूची से ही निकाल दिया गया है.

मयंक अग्रवाल प्रदर्शन में अनिरंतर रहे हैं, उन्हें ग्रेड बी से सी में कर दिया गया है. मोहम्मद सिराज को अपने प्रदर्शन का फायदा मिला है जिससे अब वह ग्रुप बी में हैं जबकि सूर्यकुमार यादव अब जरूरी मैचों की संख्या खेलने के बाद ग्रुप सी में हैं.

महिलाओं के केंद्रीय अनुबंध में दीप्ति शर्मा और राजेश्वरी गायकवाड़ ग्रुप ए में हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना और पूनम यादव के साथ शामिल हो गयी हैं जिन्हें सालाना 50 लाख रूपये की रिटेनरशिप फीस मिलती है.

मिताली राज और झूलन गोस्वामी ग्रुप बी (30 लाख रूपये) में शामिल हैं. जेमिमा रोड्रिग्ज को ग्रुप सी से ग्रुप सी (10 लाख रूपये) में खिसका दिया गया है. बीसीसीआई ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की टी20 श्रृंखला के लिये पांच स्थलों को भी मंजूरी दे दी है. ये मैच कटक, विशाखापत्तनम, दिल्ली, राजकोट और चेन्नई में खेले जायेंगे. यह श्रृंखला आईपीएल के बाद जून में खेली जायेगी.

पूर्व तेज गेंदबाज अबे कुरविला को पिछले साल सीनियर राष्ट्रीय चयनकर्ता नियुक्त किया गया था, वह अपने पद से इस्तीाफा दे चुके हैं और अब नये महाप्रबंधक (क्रिकेट परिचालन) होंगे क्योंकि यह पद धीरज मल्होत्रा के हटने के बाद खाली हो गया था.

सीनियर महिला घरेलू टी20 प्रतियोगिता कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर के कारण स्थगित हो गयी थी और अब यह 15 अप्रैल से शुरू होगी और 12 मई तक चलेगी. शीर्ष परिषद ने सीके नायडू ट्रॉफी के आयोजन को भी मंजूरी दी जो 15 मार्च से एक मई तक होगा. (भाषा)
Advertisement
Advertisement