India vs England, 2nd Test: भारतीय टीम में विकेटकीपर बल्‍लेबाज की भूमिका निभा चुके दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) का मानना है कि अधिकांश भारतीय गेंदबाज मैदान पर ज्‍यादा स्‍लेजिंग नहीं करते और शांत रहते हुए ही गेंदबाजी करते हैं लेकिन सिराज का व्‍यवहार कुछ अलग है. सिराज को जोनी बेयरस्‍टो का विकेट निकालने के बाद उन्‍हें मुंह पर उंगली रखकर नहीं दिखानी चाहिए थी.

द टेलीग्रॉफ से बातचीत के दौरान दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने कहा, “मुझे लगता है कि सिराज को विरोधी टीम के बल्‍लेबाज का विकेट लेने के बाद उन्‍हें चुप कराने की जरूरत नहीं थी. आप उनका विकेट निकालकर पहले ही जंग जीत चुके हैं. अब ऐसे में मुंह पर उंगली दिखाकर उग्र होने की कोई जरूरत नहीं है. अपने शुरुआती अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में सिराज को यह सीखना होगा.”

दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने कहा, “मैं आईपीएल और इंडिया ए के लिए एक स्‍वस्‍थ सिस्‍टम को भारतीय पेस के क्षेत्र में क्रांति के लिए श्रेय देना चाहूंगा. आईपीएल में लगातार अच्‍छा प्रदर्शन करने के बाद किसी भी खिलाड़ी को इंडिया ए में जगह मिल जाती है. इसके बाद राहुल द्रविड़ और पारस महाम्ब्रे आपकी कला पर काम करते हैं. इसके बाद इन्‍हें रवि शास्‍त्री और भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण को सौंपा जाता है.”

उन्‍होंने कहा, “भारत में क्रिकेट को सर्दियों का खेल माना जाता है. भारतीय गेंदबाज अपनी पसंदीदा कंडीशन में अच्‍छा प्रदर्शन करते थे. ये आईपीएल और इंडिया ए का ही कमाल है कि भारतीय गेंदबाज इस बैरियर को तोड़ पाए हैं.”

दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने कहा, “रतीय टीम में आज की तारीख में सभी युवा खिलाड़ी आईपीएल के रास्‍ते ही जगह बना रहे हैं. दिनेश कार्तिक ने कहा, “कोलकाता नाइटराइडर्स में मेरी टीम में प्रसिद्ध कृष्‍णा खेलते हैं. उन्‍होंने कर्नाटक के लिए शानदार गेंदबाजी की है. अब देखना होगा कि वो आईपीएल में किस प्रकार का प्रदर्शन करते हैं. इसी आधार पर चयनकर्ता और टीम मैनेजमेंट की नजर उनपर जाएगी. मैं यहां तक कहूंगा कि भारत की टीम में मोहम्‍मद शमी वो आखिरी खिलाड़ी हैं जो बिना आईपीएल के भारतीय टीम में जगह बना पाए हैं.”