England vs India: इंग्लैंड भारत के हाथों लॉर्ड्स टेस्ट को गंवाकर सीरीज में पिछड़ चुका है. 5 मुकाबलों की शृंखला में टीम इंडिया ने 1-0 से लीड बना ली है. मेजबान टीम की हार से पूर्व कप्तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) काफी खफा हैं. वॉन ने हेड कोच क्रिस सिल्वरवुड (Chris Silverwood) और कप्तान जो रूट (Joe Root) को मैच के दौरान बाउंसर रणनीति के लिए लताड़ा है.

बता दें कि दूसरे मैच के पांचवें और अंतिम दिन लंच से पहले इंग्लैंड के गेंदबाजों ने भारत के पुछल्ले बल्लेबाजों मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह के लिए लगातार बाउंसर किए. इन दोनों के बीच नौवें विकेट के लिए 89 रन की अटूट साझेदारी की मदद से भारत ने इंग्लैंड के सामने 272 रन का लक्ष्य रखा और बाद में उसकी टीम को 120 रन पर आउट कर दिया.

वॉन ने फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘दूसरे टेस्ट मैच के पांचवें दिन लंच से पूर्व के 20 मिनट के दौरान वह पतन देखने को मिला जो इंग्लैंड टेस्ट टीम का पिछले कई वर्षों में सबसे बुरा रवैया था. ’’

इंग्लैंड के निचले क्रम के बल्लेबाजों विशेषकर जेम्स एंडरसन को बाउंसर करने वाले बुमराह जब बल्लेबाजी के लिये आए, तो उन्हें भी बाउंसर झेलने पड़े थे. इस बीच तेज गेंदबाज मार्क वुड और विकेटकीपर जोस बटलर से उनकी बहस भी हुई.

इंग्लैंड की यह रणनीति हालांकि कारगर साबित नहीं हुई तथा बुमराह और शमी भारत को बेहतर स्थिति में पहुंचाने में सफल रहे. वॉन ने कहा, ‘‘इस बारे में बहुत कुछ लिखा और कहा जा चुका है कि जसप्रीत बुमराह को बाउंसर करने की रणनीति इंग्लैंड को उल्टी पड़ी. जो रूट को उनके कुछ सीनियर खिलाड़ियों ने वास्तव में निराश किया जिन्हें तुरंत ही हस्तक्षेप करना चाहिए था लेकिन मैं कोच से भी हस्तक्षेप की उम्मीद करता था.

उन्होंने आगे कहा, “सिल्वरवुड ने रूट को यह बताने के लिये किसी को पानी लेकर मैदान पर क्यों नहीं भेजा कि यह सब क्या चल रहा है और वह तुरंत अपनी रणनीति बदले. मैं जानता हूं कि यदि मैं ऐसा करता तो मेरे साथ डंकन फ्लैचर ने ऐसा ही किया होता.’’

वॉन ने कहा कि इस सत्र में इंग्लैंड ने अपने हाथ से मौका गंवा दिया. उन्होंने कहा, ‘‘यह दूसरे टेस्ट मैच में महत्वपूर्ण पल था तथा इंग्लैंड ने इसे गंवा दिया. इसके लिये सिल्वरवुड भी जिम्मेदार थे.’’