Breaking News

    …तंग आकर कहता था ये लोग खिलाते ही नहीं, पालघर एक्‍सप्रेस’ Shardul Thakur के कोच ने बताई संघर्ष की कहानी

    …तंग आकर कहता था ये लोग खिलाते ही नहीं, पालघर एक्‍सप्रेस’ Shardul Thakur के कोच ने बताई संघर्ष की कहानी

    Shardul Thakur ने जोहान्‍सबर्ग टेस्‍ट में दूसरे दिन सात विकेट निकाल सनसनी मचा दी. एक समय में मजबूत स्थिति में नजर आ रही अफ्रीकी टीम 229 रन पर ऑलआउट हो गई.

    Updated: January 4, 2022 10:56 PM IST | Edited By: India.com Staff
    शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) ने आज जोहान्‍सबर्ग के वांडर्स क्रिकेट मैदान पर इतिहास रच दिया. वो साउथ अफ्रीका की (IND vs SA Test) सरजमीं पर सात विकेट हॉल लेने वाले भारत के एकमात्र भारतीय गेंदबाज हैं. इस शानदार प्रदर्शन के बाद इस वक्‍त हर जगह पालघर एक्‍सप्रेस के नाम से मशहूर शार्दुल ठाकुर के ही चर्च हैं. बचपन के दिनों के कोच दिनेश लाड ने शार्दुल के साथ जुड़े कई किस्‍सों के बारे में बताया. लाड का कहना है कि एक वक्‍त वो इसलिए भी परेशान था क्‍योंकि आईपीएल में खरीदे जाने के बावजूद पंजाब किंग्‍स फ्रेंचाइजी उन्‍हें प्‍लेइंग इलेवन में मौका ही नहीं देती थी.

    शार्दुल (Shardul Thakur) के कोच ने न्‍यूज एजेंसी पीटीआई से बातचीत के दौरान कहा,‘‘ मैने उसके साथ कुछ खास नहीं किया लेकिन उसकी मानसिक ताकत पर काम किया. मुझे याद है जब आईपीएल में उसे किंग्स इलेवन पंजाब ने अंतिम एकादश में शामिल नहीं किया था तब वह काफी निराश हो जाता और कहता था कि ये मुझे खिलाते ही नहीं हैं. मैं उससे कहता था कि कोई बात नहीं. तुम्हें चुना गया है और बड़े खिलाड़ियों के साथ अभ्यास करना तुम्हारे लिये अहम है.’’

    तीस वर्ष के ठाकुर ने अक्टूबर 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहला टेस्ट खेला लेकिन अगले टेस्ट के लिये लंबा इंतजार करना पड़ा. भारत के सीमित ओवरों के कप्तान रोहित शर्मा के भी कोच रहे लाड ने ठाकुर को सिर्फ एक सलाह दी थी कि कुछ अलग मत करना.

    उन्होंने कहा ,‘‘वेस्टइंडीज दौरे पर जब वह पहली बार चुना गया तो मैने उससे इतना ही कहा कि कुछ अलग मत करना. रणजी ट्रॉफी में जैसे गेंदबाजी करते हो, वैसे ही करना. वह सीखता रहा. मैने उससे कहा कि बल्लेबाज को खेलने पर मजबूर करो ताकि विकेट लेने के मौके बनें. उसने अपनी बल्लेबाजी पर भी काफी मेहनत की.’’
    Advertisement