भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्‍लेबाज सुनील गावस्‍कर (Sunil Gavaskar) ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ आखिरी वनडे मैच के दौरान दीपक चाहर (Deepak Chahar) के लापरवाही भरे शॉट पर सवाल उठाए. गावस्‍कर का मानना है कि आजकल ये समझा जाने लगा है कि केवल चौके और छक्‍के लगाकर ही मैच जीता जा सकता है. आसानी से मिल सकने वाली जीत को भी हमने इस मैच में गंवा दिया. बता दें कि साउथ अफ्रीका ने इस मुकाबले को चार रन से अपने नाम कर सीरीज में 3-0 से अजेय जीत दर्ज की.

सुनील गावस्‍कर (Sunil Gavaskar) ने स्‍पोर्ट्स तक से बातचीत के दौरान कहा, “जिस तरह से आखिरी के 10 ओवरों में बल्‍लेबाजी हुई उसे देखकर लग रहा था कि साउथ अफ्रीका के लिए ये मैच जीत पाना काफी कठिन साबित होगा. अफ्रीकी टीम ने अपना संतुलन नहीं खोया. उनपर काफी दबाव था. लुंगी एनगिडी ने काफी रन लुटा दिए थे. इसके बाद हमने देखा कि कुछ शॉट ऐसे खेले गए जिसकी शादय जरूरत नहीं थी.”

“दीपक चाहर ने शानदार पारी खेली लेकिन उन्‍हें वो शॉट खेलने की जल्‍दी क्‍या थी. वो लगभग मैच को जिता चुके थे. हमें 10 रन के करीब चाहिए थे और वो भी लगभग 18 गेंदों पर. आप सिंगल लेकर भी मैच को जिता सकते थे. उस वक्‍त बड़े शॉट खेलने की जरूरत नहीं थी.”

सुनील गावस्‍कर ने कहा, “मैं दीपक चाहर में कमी नहीं निकाल रहा हूं. मैं केवल इतना कह रहा हूं कि आज के वक्‍त में ये सोच बन गई है कि हम चौके और छक्‍के लगाकर ही मैच जीत सकते हैं. इस सोच के चलते भारत के हाथ से ये मैच निकल गया.”