भारतीय टीम के पूर्व कोच संजय बांगड़ (Sanjay Bangar) का मानना है कि आगामी विश्‍व कप 2022 के दौरान टीम में ऑलराउंडर की भूमिका के लिए शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) और रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) में से किसी एक को चुनना काफी टेढ़ी खीर साबित होने वाला है. जडेजा श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज से टीम में चोट से उबरने के बाद वापसी कर रहे हैं. वहीं, शार्दुल इस सीरीज का हिस्‍सा नहीं हैं. भारत और श्रीलंका (Indi vs Sri Lanka, T20I) के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज 24 फरवरी से शुरू होने जा रही है.

स्‍टार स्‍पोर्ट्स के शो गेम प्‍लान में बातचीत के दौरान संजय बांगड़ (Sanjay Bangar) ने कहा, “जितना ज्‍यादा में इस बारे में सोचता हूं मुझे लगता है कि हमें ऑलराउंडर के रोल के लिए शार्दुल ठाकुर और रवींद्र जडेजा में से किसी एक पर टॉस करके पहुंचना होगा. यही वजह हो सकती है कि शार्दुल ठाकुर को आराम दिया गया है जब रवींद्र जडेजा अपनी फिटनेस प्राप्‍त कर वापस टीम में लौट रहे हैं.”

“ये दोनों खिलाड़ी पिछले एक दो सालों में टीम में भारत के लिए ऑलराउंडर की भूमिका बहुत अच्‍छे से निभा रहे हैं. बल्‍ले और गेंद दोनों ही विभाग में उनका रोल अच्‍छा है.”

संजय बांगड़ (Sanjay Bangar) ने आगे कहा, “जडेजा की बल्‍लेबाजी बीते कुछ सालों में काफी अच्‍छी हो गई है. वो एक बाएं हाथ के बल्‍लेबाज हैं ऐसे में वो निचले क्रम में बाएं और दाएं हाथ के बल्‍लेबाजों के बीच अच्‍छा तालमेल बना सकते हैं. टीम को इसकी जरूरत है. मैं कहूंगा कि जडेजा सीधे तौर पर उस जगह के हकदार हैं जिसे शार्दुल ने खाली किया है.”

एक गेंदबाज के तौर पर जड्डू की भूमिका पर बांगड़ ने कहा, “निश्चित तौर पर वो गेंदबाजी के दौरान हमेशा से ही टीम के लिए बीच के ओवरों में अच्‍छी भूमिका निभाते हैं. उसे कभी-कभी शुरुआती छह ओवरों के दौरान भी गेंदबाजी के लिए कहा गया है. उन्‍होंने ये भूमिका भी अच्‍छे से निभाई है.”