VVS Laxman Says he Would Back Ravichandran Ashwin: भारतीय टीम के पूर्व बल्‍लेबाज वीवीएस लक्ष्‍मण का मानना है कि इंग्‍लैंड के खिलाफ नॉटिंघम टेस्‍ट में भारत को स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की कमी साफ तौर पर खली है. इस मैच में अश्विन के स्‍थान पर रवींद्र जडेज को तरजीह दी गई है जो एक भी विकेट निकाल नहीं पाए.

रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने दूसरी पारी के दौरान 13 ओवरों में 39 रन खर्च किए. पहली पारी के दौरान उनसे तीन ओवर ही डलवाए गए. मैच के तीसरे और चौथे दिन पिच स्पिन गेंदबाजों के भी अनुकूल नजर आ रही थी लेकिन जडेजा असर नहीं छोड़ पाए.

वीवीएस लक्ष्‍मण (VVS Laxman) ने ईएसपीएन क्रिकइंफो के शो में कहा, “दोबारा रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) के चयन की बात करें तो मैं अभी भी उन्‍हीं के साथ जाता. बारिश की भविष्यवाणी के बावजूद मैं एक मैच विनर अश्विन के साथ ही मैदान में उतरता.”

“भारत को चार आक्रामक विकेट निकलाने वाले गेंदबाजों की जरूरत है. इसके बाद पांचवें गेंदबाज के रूप में रवींद्र जडेजा रनो की रफ्तार को थाम सकते हैं. मैच जैसे-जैसे आगे बढ़ा हम देख सकते हैं कि पिच फ्लैट हो गई थी. जड़ेजा  को इसपर थोड़ी बहुत टर्न भी मिली. अगर अश्विन वहां होता तो वो टीम के लिए अतिरिक्‍त मौके बनाते और मिडल ऑर्डर में अलग ही कहानी होती.”

रवींद्र जडेजा मैच में भारत के लिए असरदार साबित हुए हैं। उन्‍होंने पहली पारी के दौरान 56 रन बनाए जो टीम को 95 रनों की बड़ी बढ़त दिलाने में बेहद अहम साबित हुए। भारत को अब अंतिम दिन मैच जीतने के लिए 157 रनों की दरकार है।