उपकप्‍तान अजिंक्‍य रहाणे (Ajinkya Rahane) की इंग्‍लैंड में खराब फॉर्म को देखते हुए भारतीय टीम के पूर्व बल्‍लेबाज वीवीएस लक्ष्‍मण ने उन्‍हें टीम से बाहर किए जाने की वकालत की है. लक्ष्‍मण का मानना है कि बल्‍लेबाजी के दौरान रहाणे के खेल को देखकर कभी भी ऐसा नहीं लगा कि वो आत्‍मविशवास के साथ खड़े हों.

ईएसपीएन क्रिकइंफो के शो में वीवीएस लक्ष्‍मण ने कहा, “समय आ गया है जब रहाणे को ब्रेक दिया जाना चाहिए. मुझे नहीं पता कि उनका भविष्‍य क्‍या होने वाला है. वो एक क्‍वालिटी प्‍लेयर हैं. एक क्‍वालिटी वाला खिलाड़ी टीम में कमबैक करता ही है. जिस तरह की फॉर्म और विश्‍वास अजिंक्‍य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने दिखाया है. आठ गेंदों की पारी के दौरान रहाणे की बॉडी लेंगुवेज से कभी भी ऐसा नहीं लगा कि वो ठोस पारी खेलने जा रहे हैं.”

वीवीएस लक्ष्‍मण ने कहा, “रवींद्र जडेजा को ऊपर प्रमोट करने से संदेश साफ है. टीम मैनेजमेंट को भी लगता है कि रहाणे (Ajinkya Rahane) की पारी में आत्‍मविश्‍वास नजर नहीं आता है. आप इस तरह के माइंडसेट के साथ मैच में नहीं जा सकते हो. मुझे लगता है कि मेनचेस्‍टर के ओल्‍ड ट्रेफर्ड स्‍टेडियम में होने वाले मैच में रहाणे के स्‍थान पर हनुमा विहारी को जगह दी जा सकती है.”

अजिंक्‍य रहाणे ने ओवल टेस्‍ट की पहली पारी के दौरान 14 रन बनाए थे लेकिन दूसरी पारी में वो खाता तक नहीं खोल पाए. ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर रहाणे ने एक शतक जड़ा था. उन्‍हीं की कप्‍तानी में भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया में एक अनुभवहीन टीम के साथ मेजबानों को टेस्‍ट सीरीज में मात दी थी.