टीम इंडिया के नवनियुक्त कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) आज भी भरोसे का दूसरा नाम हैं. द्रविड़ जब बतौर खिलाड़ी खेलते थे, तब भारतीय फैन्स और टीम को उन पर हर संकट से उबारने का भरोसा होता था. अब जब द्रविड़ कोच हैं तो पूर्व स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) को उन पर टीम में स्थिरता लाने का भरोसा है.

हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने आगे कहा कि द्रविड़, विराट कोहली (Virat Kohli) और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के साथ भारतीय क्रिकेट को बहुत आगे तक ले जाएंगे. द्रविड़ ने अपने कार्यकाल की शुरुआत न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज जीतने से की है, लेकिन मौजूदा वर्ल्ड टेस्ट चैंपियन कीवियों से टेस्ट सीरीज जीतना एक चुनौतीपूर्ण काम होगा.

41 वर्षीय भज्जी क्रिकेट प्रसारक चैनल स्टार स्पोर्ट्स के एक शो में चर्चा कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा, ‘देखिए नया कॉम्बिनेशन बनाने में कुछ समय लगता है. नई प्रक्रियाओं के तहत जब राहुल द्रविड़ टीम में आ जाएंगे, तो मुझे भरोसा है कि वह विराट कोहली, रोहित शर्मा के साथ मिलकर टीम को स्थिरता देंगे. मुझे लगता है कि उन्हें एक साथ काम करना चाहिए और भारतीय क्रिकेट को नई ऊंचाइयों पर ले जाना चाहिए.’

सिंह ने कहा, ‘द्रविड़ टीम में स्थिरता लाने के लिए खिलाड़ियों को अच्छे मौके देंगे और उनके साथ कोई अनुचित व्यवहार नहीं किया जाएगा. साथ ही उन्हें उचित अवसर दिए जाएंगे.’

भज्जी ने कहा कि खिलाड़ियों को टीम से बाहर होने  से पहले पर्याप्त मौके मिलेंगे और जब उन्हें टीम से बाहर भी किया जाएगा तो उसका पूरा कारण बताया जाएगा. द्रविड़ की कार्यशैली टीम में स्थिरता लेकर आएगी.

गुरुवार से टीम इंडिया द्रविड़ की कोचिंग में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने टेस्ट अभियान की शुरुआत कर रही है. पहले टेस्ट में नियमित कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) उपलब्ध नहीं होंगे. कोहली टी20 वर्ल्ड कप के बाद से आराम पर हैं हालांकि इसी टेस्ट सीरीज में वह मुंबई टेस्ट से एक बार फिर टीम की कमान संभालेंगे.