The Kind Of Talent Pakistan Has, India Does Not Says Abdul Razzak: इन दिनों पाकिस्तान की क्रिकेट उसके सबसे खराब दौर से गुजर रही है. विदेशी टीमें उसकी जमीन पर आकर खेलना नहीं चाहतीं और बड़ी टीमों के खिलाफ उसके प्रदर्शन का स्तर गिरता ही जा रहा है. इसके बावजूद पाकिस्तान के कुछ पूर्व क्रिकेटरों को लगता है कि उनकी टीम भारत जैसी विश्वस्तरीय टीम को मात दे सकते हैं. पूर्व ऑलराउंडर अब्दुल रज्जाक (Abdul Razzaq) ने कहा कि भारतीय टीम पाकिस्तान को हरा ही नहीं सकती है और इसी डर से वह उसके खिलाफ खेलने से कतराती है. रज्जाक के इस बेतुके बयान का सोशल मीडिया पर खूब मजाक उड़ रहा है.

अपने सबसे खराब दौर से गुरज रही पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी टीम के स्तर को सुधारने में तो कोई रोल निभा नहीं पा रहे हैं. लेकिन भारत पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच मैच पर अपनी फिजूल की राय रख रहे हैं. भारत और पाकिस्तान के बीच साल 2013 के बाद से कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं हुई है. दोनों देशों के बीच राजनैतिक मतभेद के चलते क्रिकेट से भी दोनों देशों ने दूरी बनाई हुई है.

बीते 8 सालों से ये दोनों देश सिर्फ आईसीसी टूर्नामेंट में एक-दूसरे के खिलाफ खेलते हैं. इन मैचों में भारतीय टीम का पाकिस्तान पर गजब का दबदबा है. वर्ल्ड कप मैचों में तो पाकिस्तान आज तक भारत को मात नहीं दे पाया है. इसके बावजूद पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी अब्दुल रज्जाक ने कहा कि भारत की टीम पाकिस्तान के सामने घटिया है और वह उसे मात नहीं दे सकती है.

रज्जाक ने यह बात तब कही, जब वह अपने देश के एक खबरिया चैनल एआरवाई न्यूज से क्रिकेट पर चर्चा कर रहे थे. तब शो के एंकर ने रज्जाक से भारत और पाकिस्तान की टीमों में जो प्रतिभा है उसे लेकर सवाल पूछा था कि दोनों टीमों में कौन सी टीम ज्यादा दमदार दिखती है.

न्यूज एंकर ने रज्जाक से सवाल किया था कि क्या भारत के पास पाकिस्तान की टीम जैसे तेज गेंदबाज या ऑलराउंडर्स हैं, या फिर आपको लगता है कि दोनों का कोई मुकाबला ही नहीं है?

इसके जवाब में रज्जाक ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि भारत पाकिस्तान का मुकाबला कर सकता है. पाकिस्तान के पास जैसा टैलंट है वह बिल्कुल ही अलग है और मुझे नहीं लगता कि क्रिकेट के लिए यह कोई अच्छी चीज है कि भारत और पाकिस्तान एक-दूसरे के खिलाफ नहीं खेल रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘पहले जब दोनों टीमें आपस में भिड़ती थीं को हालात रोमांचक होते थे और दोनों टीमों के खिलाड़ी यह दर्शाते थे कि वे किस हद तक दबाव का सामना कर सकते हैं. अब क्रिकेट में इस चीज को मिस किया जा रहा है. मुझे लगता है दोनों को खेलना चाहिए ताकि दुनिया यह देख सके कि जो प्रतिभा पाकिस्तान के पास है वह भारत के पास नहीं है.’