जब भी भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) की टीमें क्रिकेट के मैदान पर होती हैं तो खेल का रोमांच हमेशा 7वें आसमान पर होता है. दोनों टीमों के खिलाड़ी मैदान पर अंत तक एक दूसरे खिलाफ हार नहीं मानते तो वहीं मैदान के बाहर मौजूद दर्शक भी मैच में पूरे जुनून के साथ अपनी-अपनी टीमों का हौंसला बढ़ाते नजर आते हैं.

एक बार फिर दोनों टीमें आगामी टी20 वर्ल्ड कप (IND vs PAK T20 World Cup) में आमने-सामने होंगी. वर्ल्ड कप मैचों में भारतीय टीम हमेशा पाकिस्तान पर भारी पड़ी है. लेकिन इस बार पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के नए चीफ रमीज राजा (Ramiz Raja) चाहते हैं कि उनकी टीम इस इतिहास को बदल डाले.

भारत और पाकिस्तान की टीमें 24 अक्टूबर को टी 20 वर्ल्ड कप में एक-दूसरे के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेंगी. पीसीबी का नया अध्यक्ष बनने के बाद रमीज राजा ने अपनी टीम को पहला संदेश यही दिया है कि वह इस बार भारत के खिलाफ वर्ल्ड कप में अपनी जीत का खाता खोल दे. रमीज राजा ने इसके लिए टीम को खेल का खास मंत्र भी दिया है. रमीज राजा ने कहा कि पाकिस्तान को हमेशा बेखौफ क्रिकेट खेलनी चाहिए. यहीं स्टाइल उसकी हमेशा से पहचान रहा है.

क्रिकेट पाकिस्तान की एक रिपोर्ट के मुताबिक, रमीज राजा ने कहा, ‘भारत-पाकिस्तान का मैच हमेशा ही क्रिकेट का सबसे खास आकर्षण होता है और जब मैं पाकिस्तान की टीम से मिला तो मैंने उन्हें यही कहा कि मैं चाहता हूं कि इस बार पासा पलटा हुआ दिखाई दे और टीम को इस मैच के लिए 100 फीसदी मेहनत करनी चाहिए और मैच में खुद को साबित करना चाहिए.’

रमीज राजा ने मैन इन ग्रीन को यह संदेश भी दिया कि वह इस महामुकाबले के लिए बेखौफ अंदाज में क्रिकेट खेले. इसी के साथ उन्होंने टीम का समर्थन भी किया कि वह वर्ल्ड कप जीत की बड़ी दावेदार है. उन्होंने कहा, ‘हमारी राष्ट्रीय टीम में वर्ल्ड कप जीतने की पूरी क्षमता है और हमें इस इवेंट के लिए चुनी हुई टीम का पूरी तरह समर्थन करना चाहिए. हमें अपनी योजनाओं पर काम करने की जरूरत है, ताकि अपनी रणनीतियों को हम दुरुस्त कर पाएं. पाकिस्तान क्रिकेट के डीएनए में निडर क्रिकेट खेलना ही है और उसे आगामी टूर्नामेंट में भी ऐसा ही करना चाहिए.’

बता दें आईसीसी वर्ल्ड कप में भारत और पाकिस्तान की टीमों का कुल 12 बार सामना हुआ है. इन 12 बार में से पाकिस्तान की टीम को एक भी बार जीत नहीं मिली है. दोनों टीमों ने 50 ओवर वर्ल्ड कप में 7 बार, जबकि टी20 वर्ल्ड कप में 5 बार एक-दूसरे के खिलाफ मैच खेले हैं. वनडे में पाकिस्तान को सातों बार शिकस्त का सामना करना पड़ा है, जबकि टी20 वर्ल्ड कप में उसे पांचों बार हार मिली है. एक बार उसने टाई जरूर (2007 T20 वर्ल्ड कप) खेला था, लेकिन बॉल आउट के जरिए वह मुकाबला गंवा दिया था.