India Women vs Australia Women, 1st T20I: ऑस्‍ट्र‍ेलिया की महिला टीम के खिलाफ पहला टी20 मैच भले ही बारिश की भेंट चढ़ गया हो लेकिन इसके बावजूद जमिमा रोड्रिग्‍स (Jemimah Rodrigues) 49 रन की नाबाद पारी खेलने में सफल रही। एक वक्‍त था जब जमिमा खराब फॉर्म से जूझ रही थी। वापसी के बाद जेमिमा ने कहा कि इंग्‍लैंउ की द हंड्रेड लीग ने फॉर्म में लौटने में उनकी खासी मदद की।

‘द हंड्रेड’ में नार्दर्न सुपर चार्जर्स के लिये खेलते हुए जेमिमा ने तीन अर्धशतक जड़े जिससे उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू श्रृंखला और इंग्लैंड के खिलाफ उसकी सरजमीं पर हुई श्रृंखला में मिली असफलता से खोया आत्मविश्वास हासिल करने में मदद मिली।

जेमिमा (Jemimah Rodrigues) ने 36 गेंद में सात चौके जड़ित पारी खेलने के बाद कहा, ‘‘इसमें सीखने को काफी कुछ मिला लेकिन यह मेरे लिये आसान समय नहीं था। टीम से बाहर बैठने के दौरान काफी चीजें दिमाग में चलती रहती थीं, काफी संशय बना हुआ था लेकिन मैं आभारी हूं कि इस टीम का हिस्सा बनी। अगर ‘द हंड्रेड’ नहीं होता तो मुझे लगता है कि मेरा भारत के लिये खेलने के लिये चयन नहीं हो पाता। ’’

यह 21 साल की खिलाड़ी टेस्ट और वनडे टीम में नहीं चुने जाने की निराशा को नहीं छुपा सकी। उन्होंने कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो कोई भी खिलाड़ी वनडे के लिये नहीं चुने जाने पर निराश होगा जबकि मैं जानती थी कि मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रही थी और अच्छी फार्म में थी। लेकिन अंत में, टीम जो चाहती है, मैं वो करने के लिये तैयार हूं। अगर टीम सही संतुलन ढूंढ रही थी तो मैं बाहर बैठकर खुश हूं। ’’