बांग्‍लादेश क्रिकेट टीम (Bangladesh Cricket Team) के स्‍टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) ने हाल ही में यह स्‍पष्‍ट किया कि वो मानसिक थकान के चलते अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट से कुछ वक्‍त के लिए ब्रेक लेने जा रहे हैं. उन्‍होंने यह निर्णय साउथ अफ्रीका के खिलाफ दौरे (Bangladesh Tour of South Africa 2022) से ठीक पहले लिया. बांग्‍लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) के अध्‍यक्ष नजमुल हसन (Nazmul Hassan) इस वक्‍त शाकिब के इस निर्णय से काफी खफा हैं. उनका कहना है कि अगर आईपीएल (IPL 2022) में शाकिब को काई फ्रेंचाइजी खरीद लेती तो फिर वो इस तरह बहाना बनाकर क्रिकेट से ब्रेक नहीं लेते. उन्‍होंने सभी क्रिकेटर्स को चेतावनी देते हुए स्‍पष्‍ट किया कि अगर खिलाड़ी पेशेवर तरीका नहीं अपनाएंगे तो बोर्ड को उनपर सख्‍त रुख अख्तियार करना होगा.

ईएसपीएन क्रिकइन्‍फो से बातचीत के दौरान नजमुल हसन ने कहा, “मुझे लगता है कि यह सोचना तर्कसंगत होगा कि अगर वो शारीरिक और मानसिक तौर पर फिट नहीं होते तो कभी आईपीएल में खेलने के लिए अपना नाम नहीं देते. वो इससे आगे गए. क्‍या यह समझा जाए कि उन्‍हें अगर इस सीजन के लिए आईपीएल कांट्रैक्‍ट (Shakib Al Hasan IPL Contract) मिल जाता तो भी वो मानसिक कारणों से वहां खेलने नहीं जाते. अगर वो बांग्‍लादेश के लिए खेलना नहीं चाहते तो इसमें हम कुछ भी नहीं कर सकते हैं लेकिन वो यह नहीं कर सकते कि आप ये वाला गेम खेलोगे और ये वाला नहीं खेलोगे.”

बीसीसी प्रमुख ने ईशारों-ईशारों में इसे लेकर पॉलिसी बनाने की बात भी कही. “हम उन लोगों पर काफी नर्म हैं जो हमे पसंद हैं लेकिन आपको भी पेशेवर होना होगा. अन्‍यथा हमें ऐसे निर्णय लेने होंगे जो किसी को भी पसंद नहीं आएंगे. मैं सभी के लिए स्‍पष्‍ट हूं. आपको समय पर बताना होगा कि आप ये फॉर्मेट खेलना चाहते हो और वो नहीं खेलना चाहते. आप इस तरह से सीरीज खेलने से मना नहीं कर सकते हो.”