David Warner says He wasn’t informed Why They were Removing him From Captaincy: आईपीएल 201 में हाशिए पर रही सनराइजर्स हैदराबाद की टीम पहले लेग के बाद ही प्‍लेऑफ की दौड़ से लगभग बाहर हो गई थी. टीम मैनेजमेंट ने डेविड वार्नर को भारत में मैचों के अंत से पहले ही कप्‍तानी से हटाते हुए केन विलियसमन को ये जिम्‍मेदारी सौंप दी थी. हालांकि बीच टूर्नामेंट में लीडरशिप में बदलाव से भी हैदराबाद को फायदा नहीं हुआ. इस मामले में पहले बार डेविड वार्नर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है.

डेविड वार्नर ने कहा कि उन्‍हें कप्‍तानी से हटाए जाने से पहले इसका कारण तक नहीं बताया गया. इंडिया टुडे अखबार से बातचीत के दौरान उन्‍होंने कहा ,‘‘ टीम मालिकों, ट्रेवर बेलिस, लक्ष्मण, मूडी और मुरली के प्रति पूरा सम्मान रखते हुए मैं कहूंगा कि कोई भी फैसला सर्वसम्मति से होता है. मेरे लिये निराशाजनक बात यह भी रही कि मुझे बताया ही नहीं गया कि कप्तानी से क्यों हटाया गया है. फॉर्म के आधार पर फैसला लिया गया तो यह कठिन है क्योंकि अतीत के प्रदर्शन को अनदेखा नहीं करना चाहिये .’’

डेविड वार्नर ने कहा ,‘‘ खास तौर पर जब आपने टीम के लिये 100 मैच खेले हों. मुझे लगता है कि चेन्नई में पहले पांच में से चार मैचों में खराब प्रदर्शन रहा. मेरे कुछ सवाल है लेकिन लगता है कि जवाब कभी नहीं मिलेगा. आगे बढना ही होगा. मुझे सनराइजर्स के लिये खेलने में मजा आया. उम्मीद है कि मैं वापस आऊंगा. सनराइजर्स की जर्सी में या किसी और टीम की, पता नहीं.’’