इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) को चिंता है कि अगर आईपीएल जैसी लीग अपने आयोजन की अवधि बढ़ा लेंगी तो फिर इसका दुष्प्रभाव अंतरराष्ट्रीय मैचों पर होगा. आईसीसी के चेयरमैन ग्रेग बार्कले ने शुक्रवार को कहा कि अगर आईपीएल जैसी टी20 लीग अपने आयोजन की अवधि बढ़ाती हैं तो इससे अंतरराष्ट्रीय टीमों के बीच द्विपक्षीय मुकाबले कम हो सकते हैं. आईपीएल में इस सत्र में दो नई टीमों के जुड़ने के बाद मैचों की संख्या 74 हो गई. पिछले सत्र में कुल 60 मैच खेले गए थे.

यह पूछे जाने पर कि आईपीएल और अंतरराष्ट्रीय कैलेंडर के बीच संतुलन कैसे बनाया जाए बार्कले ने कहा, ‘यह एक अच्छा प्रश्न है. आईपीएल और इस तरह की कुछ अन्य घरेलू लीग के मैचों में बढ़ोतरी के साथ नई लीग भी शुरू होगी.’

उन्होंने पीटीआई-भाषा से बातचीत में कहा, ‘लेकिन ऐसी घरेलू प्रतियोगिताएं सदस्य देशों के अधिकार क्षेत्र में है. वे इसे अपनी इच्छानुसार चला सकते हैं. लेकिन इसका अधिक आयोजन और लंबी अवधि तक चलने का मतलब है कि अंतरराष्ट्रीय टीमों के बीच द्विपक्षीय मुकाबलों में कमी आएगी. हम जानते हैं कि साल में सिर्फ 365 दिन होते हैं.’

आईसीसी अध्यक्ष ने हालांकि आईपीएल की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्हें चकाचौंध से भरपूर यह लीग पसंद है. उन्होंने कहा, ‘मैं दो साल तक यात्रा करने में सक्षम नहीं रहा. भारत में वापस आना बहुत अच्छा है. आईपीएल के लिए यह मेरी पहली यात्रा है. सेमीफाइनल (प्लेऑफ) और फाइनल मुकाबले हैं.

उन्होंने कहा, ‘मुझे आईपीएल पसंद है, यह एक शानदार प्रतियोगिता है. मुझे लगता है कि भारत और बीसीसीआई ने क्रिकेट के साथ कुछ अद्भुत किया है. यह एक ऐसी प्रतियोगिता है, जिसे देखना और उसका हिस्सा बनना सम्मान की बात है.

उन्होंने बताया कि 2024-2031 चक्र के लिए आईपीएल के मीडिया अधिकार जारी होने के बाद आईसीसी मीडिया अधिकार निविदा जारी करेगी. उन्होंने कहा, ‘मैं इसे लेकर काफी उत्साहित हूं कि मीडिया अधिकारों को लेकर काफी रुचि है. मुझे लगता है कि कुछ बहुत ही विश्वसनीय ‘पार्टियां’ हैं, जो आईसीसी के साथ काम करने में सक्षम होगी और वे सभी क्रिकेट के विकास में सकारात्मक योगदान देने में सक्षम होंगे.’