आईपीएल में सोमवार को दिल्ली कैपिटल्स (DC) और पंजाब किंग्स (PBKS) की टीम एक दूसरे के आमने-सामने थीं. दोनों के लिए यह मुकाबला एलिमिनेटर जैसा था. पंजाब किंग्स की टीम यहां पहले हाफ तक मजबूत स्थिति में दिख रही थी लेकिन फिर दिल्ली के गेंदबाजों ने जो कमाल दिखाया तो वह धराशाई हो गई और मैच हारकर प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गई.

मैच के बाद पंजाब किंग्स के कप्तान मयंक अग्रवाल ने टीम की बैटिंग पर निराशा जताते हुए कहा कि उनकी टीम यह मैच जीत सकती थी. लेकिन उसने खराब बल्लेबाजी की, जिसकी बदौलत वह यह मैच हार गई.

मयंक ने कहा, ‘हमने 5 से 10 ओवर के बीच बहुत ज्यादा विकेट गंवा दिए और यहीं हम मैच हार गए. जैसी बैटिंग हमारे पास है निश्चिततौर पर यह टारगेट हमारे लिए ऐसा था, जिसका हम पीछा कर सकते थे.’

उन्होंने कहा, ‘यह विकेट इतना खराब नहीं था, जैसा कि यह खराब दिख रहा था. अभी हमारे पास एक मैच और है. अब हम वहां अपना बेस्ट क्रिकेट खेलना चाहते हैं. हम अभी तक अपना बेस्ट क्रिकेट नहीं खेले हैं लेकिन आखिरी मैच में हम इसकी ही उम्मीद करेंगे.’

मैच के पहले हाफ में पंजाब किंग्स की टीम हावी दिख रही थी, जब कप्तान मयंक अग्रवाल ने यहां टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया था और दिल्ली कैपिटल्स की टीम को सिर्फ 159 रनों पर रोक दिया.

इसके बाद जॉनी बेयरस्टो और शिखर धवन की जोड़ी ने उसके अच्छी शुरुआत देकर टीम का काम आसान करने की कोशिश भी की. लेकिन जैसे ही जॉनी बेयरस्टो ने अपना विकेट गंवाया पंजाब ने भी अपनी लय खो दी और एक के बाद एक लगातार विकेट गंवा दिए. उसने मात्र 82 रन पर अपने 7 विकेट गंवाकर मैच मुश्किल बना दिया.

अंत में विकेटकीपर बल्लेबाज जितेश शर्मा ने राहुल चाहर के साथ मिलकर मैच को बनाने की कोशिश जरूर की. लेकिन जितेश के आउट होते ही टीम की रही सही उम्मीदें भी खत्म हो गईं.