आईपीएल 2022 के लिए दिल्‍ली कैपिटल्‍स फ्रेंचाइजी (IPL 2022 Retention List Delhi Capitals) की रिटेनड क्रिकेटर्स की लिस्‍ट सामने आ गई है. जैसा की बताया जा रहा था, इस फ्रेंचाइजी ने अपने पूर्व कप्‍तान श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) को रिटेन नहीं किया है. अय्यर के स्‍थान पर दिल्‍ली की टीम ने अक्षर पटेल (Axar Patel) और एनरिक नॉर्टजे (Anrich Nortje) जैसे क्रिकेटर्स को तवज्‍जों दी. कप्‍तान रिषभ पंत (Rishabh Pant) के अलावा दिल्‍ली कैपिटल्‍स ने सलामी बल्‍लेबाज पृथ्‍वी शॉ (Prithvi Shaw) को भी अपनी कोर टीम में शामिल किया है. शिखर धवन (Shikhar Dhawan), कगीसो रबाड़ा (Kagiso Rabada) जैसे शीर्ष स्‍तर के खिलाड़ी टॉप-4 में अपनी जगह नहीं बना पाए. दिल्‍ली की टीम ने 39 करोड़ रुपये में चार क्रिकेटर रिटेन किए. अब 51 करोड़ रुपये की राशि के साथ ये टीम मेगा-ऑक्‍शन में उतरेगी.

रिषभ पंत (16 करोड़ रुपये):

दिल्‍ली कैपिटल्‍स के कप्‍तान रिषभ पंत जाहिर तौर पर इस फ्रेंचाइजी की पहली पसंद हैं. उन्‍हें रिकी पोंटिंग की लीडरशिप वाली टीम में सर्वाधिक 16 करोड़ रुपये खर्च कर खरीदा गया है. पंत विस्‍फोटक बल्‍लेबाज के साथ-साथ एक विकेटकीपर की भूमिका भी निभाते हैं. यही वजह है कि वो इस फ्रेंचाइजी की पहली पसंद हैं. उनके नेतृत्‍व में यह फ्रेंचाइजी बीते सीजन में प्‍लेऑफ तक पहुंची है.

अक्षर पटेल (नौ करोड़ रुपये):

स्पिनर अक्षर पटेल बीते कुछ सालों में आईपीएल ही नहीं बल्कि भारतीय टीम में भी अपनी जगह पक्‍की कर चुके हैं. उन्‍होंने इस सीजन में 15 मैचों में 15 विकेट अपने नाम किए. सात से कम की इकनॉमी उन्‍हें अन्‍य गेंदबाजों से अलग करती है. गेंदबाजी में विवधता के चलते दिल्‍ली ने उनपर नौ करोड़ रुपये का दांव लगाया है.

पृथ्‍वी शॉ (7.5 करोड़):

सलामी बल्‍लेबाज के तौर पर पृथ्‍वी शॉ दिल्‍ली कैपिटल्‍स की टीम को शानदार संतुलन देते हैं. बीते सीजन में उन्‍होंने 15 मैचों में 32 की शानदार औसत से 479 रन ठोक दिए. वो सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में सातवें स्‍थान पर रहे. यही वजह है कि रिकी पोंटिंग (Ricky Ponting) को भी लगता है कि 7.5 करोड़ रुपये पृथ्‍वी पर लगाना सही फैसला है.

एनरिक नॉर्टजे (6.5 करोड़):

दिल्‍ली फ्रेंचाइजी में एक साल पहले तक कगीसो रबाड़ा मुख्‍य गेंदबाज की भूमिका निभाते थे. एनरिक नॉर्टजे की टीम में एंट्री के बाद वो देखते ही देखते तेज गेंदबाजी में पहली पसंद बन गए. 150 से भी अधिक की रफ्तार उन्‍हें और भी खतरनाक गेंदबाज बनाती है. इस सीजन में उन्‍होंने आठ मैचों में 12 विकेट निकाले. उनका इकनॉमी करीब छह का रहा.