Ireland vs Zimbabwe: जिम्बाब्वे के दिग्गज बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर (Brendan Taylor) अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं. टेलर ने हाल ही में आयरलैंड के खिलाफ अपने करियर का अंतिम वनडे मैच खेला. आयरलैंड से वनडे सीरीज में हार के बाद अब जिम्बाब्वे को स्कॉटलैंड के साथ बुधवार से तीन मैचों की टी20 सीरीज खेलनी है. ये जिम्ब्बावे के लिए टी20 विश्व कप की तैयारी का शानदार मौका होगा. जिम्बाब्वे को आयरलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में 2-3 से हार का सामना करना पड़ा था जबकि तीन मैचों की वनडे सीरीज 1-1 की बराबरी पर रही थी.

जिम्बाब्वे और स्कॉटलैंड की टीमों का आखिरी बार टी20 फॉर्मेट में सामना 2016 में आईसीसी विश्व कप के दौरान भारत में हुआ था, जिसमें जिम्बाब्वे को जीत हासिल हुई थी. एक बार फिर विश्व कप करीब है, लेकिन जिम्बाब्वे के पास ब्रेंडन टेलर का साथ नहीं हैं.

टीम को टेलर की कमी खल रही है. जिम्बाब्वे के कप्तान क्रैग इर्विन ने खुद कहा, “ब्रेंडन टेलर एक शानदार खिलाड़ी रहे हैं. टीम में उनकी कमी जरुर खलेगी. उनकी जगह भरना इतना आसान नहीं होगा.”

बता दें कि टेलर ने अपने संन्यास लेने की योजना की घोषणा इंस्टाग्राम के जरिए की थी. उन्होंने लिखा, “भारी मन से मैं यह घोषणा कर रहा हूं कि सोमवार को खेले जाने वाला मैच मेरा देश के लिए आखिरी मैच होगा. 17 वर्षो में कई उतार-चढ़ाव आए. इसने मुझे हमेशा विनयपूर्ण रहना सिखाया और हमेशा याद दिलाया कि मैं कितना भाग्यशाली हूं जो लंबे समय से इस स्थान पर हूं. मेरा हमेशा से लक्ष्य टीम को सुखद स्थिति में पहुंचाना था. उम्मीद करता हूं कि मैं ऐसा कर सका.”

ब्रेंडन टेलर के पास अपने अंतिम मैच में जिम्बाब्वे के लिए वनडे में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बनने का अवसर था, लेकिन वह ऐसा ना कर सके. टेलर के नाम वनडे में 6684 रन दर्ज हैं, जबकि फ्लोवेर ने एकदिवसीय करियर में 6786 रन बनाए.

टेलर ने 205 वनडे के अलावा 34 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 36.25 के औसत से 2320 रन बनाए हैं. इस प्रारूप में उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 171 रन रहा, जबकि 45 टी20 मैचों में उन्होंने 6 अर्धशतक की मदद से कुल 934 रन देश के लिए जुटाए.