आईपीएल में मुंबई इंडियन्स (Mumbai Indians) और टीम इंडिया ऑलराउंडर क्रिकेटर क्रुणाल पांड्या (Krunal Padya) ने अपनी घरेलू क्रिकेट टीम बड़ौदा की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया है. सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में बड़ौदा का इस बार बेहद खराब परफॉर्मेंस रहा, जिसके बाद क्रुणाल ने कप्तानी छोड़ने का फैसला लिया. बड़ौदा क्रिकेट संघ (BCA) के अजीत लेले ने पीटीआई-भाषा को बताया कि क्रुणाल ने शुक्रवार को राज्य निकाय को अपने फैसले की जानकारी दे दी थी.

क्रुणाल ने राज्य संघ को कप्तानी छोड़ने की जानकारी तो दे दी है लेकिन उन्होंने यह भूमिका छोड़ने का कोई कारण नहीं बताया है. लेले ने कहा, ‘वह एक खिलाड़ी के रूप में उपलब्ध रहेंगे. उन्होंने अपने फैसले से बोर्ड अध्यक्ष को अवगत करा दिया है. उनके उत्तराधिकारी का नाम चयनकर्ताओं की रविवार को होने वाली मीटिंग में होगा.’

इस 30 साल के खिलाड़ी ने भारत के लिए 5 वनडे और 19 टी20 मैच खेले हैं. अगले महीने शुरू होने वाले विजय हजारे ट्रॉफी के लिए केदार देवधर कप्तान के पद के सबसे बड़े दावेदार होंगे. सैयद मुश्ताक अली टी20 ट्रॉफी में इस बार बड़ौदा की टीम एक जीत और चार हार के साथ टीम ग्रुप बी में चार अंक के साथ सबसे निचले पायदान पर रही.

क्रुणाल पांड्या (Krunal Pandya) ने बड़ौदा के लिए 8 प्रथम श्रेणी, 71 लिस्ट ए और 56 टी20 मैच खेले हैं. अपने इस छोटे से करियर में वह विवादों में भी घिरे हैं. पिछले सीजन टीम के एक अन्य स्टार खिलाड़ी दीपक हुड्डा ने उन पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाया था. तब इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के नियमित खिलाड़ी दीपक ने क्रुणाल पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए बड़ौदा टीम का साथ छोड़ दिया था. वह अब राजस्थान के लिए खेलते हैं.