विराट कोहली (Virat Kohli) के स्थान पर रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को वनडे टीम की कप्तानी सौंपी जा चुकी है. इससे पहले रोहित टी20 टीम के कप्तान नियुक्त किए जा चुके थे, जिसे कोहली ने स्वेच्छा से छोड़ा था, लेकिन भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (BCCI) ने वनडे की कमान छोड़ने के लिए उन्हें 48 घंटे का वक्त दिया, जिस पर कोहली नहीं माने. आखिरकार 49वें घंटे रोहित शर्मा को कप्तान बना दिया गया.

भले ही विराट कोहली का निजी प्रदर्शन शानदार रहा, लेकिन बतौर कप्तान वह असफल साबित हुए. भारत ने साल 2013 में महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी, जिसके बाद से टीम इंडिया ने कोई आईसीसी टूर्नामेंट नहीं जीता. टी20 विश्व कप-2021 में भारतीय टीम का प्रदर्शन बेहद खराब रहा. भारत सुपर-12 से आगे नहीं बढ़ सका.

चैट शो ‘बैकस्टेज विद बोरिया’ में रोहित शर्मा ने खुद चैंपियनशिप जीतना खिलाड़ी का अंतिम लक्ष्य बताया है. रोहित शर्मा का मानना है कि भले ही आप कितनी सेंचुरी जमा लें, लेकिन विश्व कप जीत चैंपियनशिप मायने रखती है.

रोहित शर्मा ने कहा, “जब आप एक खेल खेलते हैं, तो लक्ष्य सर्वश्रेष्ठ हासिल करना होता है. आप सबसे बड़ी चैंपियनशिप जीतना चाहते हैं. आप कितनी भी सेंचुरी जड़ लें, लेकिन हमेशा चैंपियनशिप जीतना चाहते हैं… क्योंकि यह पूरी टीम का साझा प्रयास और उपलब्धि होती है.”

बता दें कि विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने 95 वनडे मैच खेले, जिसमें 65 जीते और 27 मुकाबले गंवाए. बात अगर 50 टी20 मैचों की करें, तो 30 मुकाबले भारत के पक्ष में रहे, जबकि 16 में उसे हार का सामना करना पड़ा था.