×

नहीं भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, PCB की चतुष्कोणीय सीरीज की योजना ICC मीटिंग में सर्वसम्मति से खारिज

PCB को उम्मीद थी कि ICC उसकी इस योजना को मान लेगा, जिससे चारों क्रिकेट बोर्ड को बड़ी कमाई होगी लेकिन ICC की मीटिंग में इसे सर्वसम्मति से खारिज कर दिया गया.

आईसीसी की आज दुबई में हुई मीटिंग में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (ICC) को तगड़ा झटका लगा है. वह भारत, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को लेकर चतुष्कोणीय सीरीज खेलना चाहता था, जिसका प्रस्ताव उसने बड़ी आशा के साथ आईसीसी की मिटिंग में पेश किया था. लेकिन यहां आईसीसी के सभी सदस्यों ने इसे सर्वसम्मति से खारिज कर दिया. इससे पहले पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) की ओर से इस प्रस्ताव को पेश करने से पहले मीडिया के सामने पेश कर पीसीबी ने इसे अपनी महत्वकांक्षी योजना करार दिया था.

पीसीबी चाहता था कि इस सीरीज के जरिए भारत और पाकिस्तान आईसीसी टूर्नामेंटों के अलावा भी किसी तटस्थ देश में एक-दूसरे के खिलाफ खेल सकते हैं. लेकिन ICC की बैठक में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष रमीज की (Ramiz Raja) की योजना को ज्यादा तवज्जो नहीं मिली.

रमीज राजा ने चार देशों के वार्षिक टी20 या एकदिवसीय टूर्नामेंट के लिए श्वेत पत्र तैयार किया था. उनका मानना है कि इससे वैश्विक निकाय को पांच साल में 750 करोड़ डॉलर (लगभग 57 अरब रुपये) का राजस्व मिल सकता है, जिसका बड़ा हिस्सा इन चारों देशों को दिया जा सकता है.

भारत, पाकिस्तान के खिलाफ सिर्फ एशिया कप और वर्ल्ड कप जैसे कई देशों वाले टूर्नामेंट में ही खेलता है. बोर्ड के एक सदस्य ने कहा, ‘आईसीसी की वित्तीय और वाणिज्यिक मामलों की समिति (एफ एंड सीए) इस प्रस्ताव के खिलाफ थी. जैसा कि हम जानते हैं कि एमपीए (सदस्य भागीदारी समझौता) किसी भी सदस्य राष्ट्र को तीन देशों से अधिक की टूर्नामेंट की मेजबानी करने की अनुमति नहीं देता है. इस तरह की योजना से आईसीसी के प्रमुख टूर्नामेंटों (एकदिवसीय एवं टी20 विश्व कप) पर असर पड़ेगा.

trending this week