महान टेस्ट बल्लेबाज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2021) के लिए एमएस धोनी (MS Dhoni) को बतौर मेंटॉर भारतीय टीम के साथ जोड़ने का स्वागत किया है. इसके साथ ही उन्होंने साफ-साफ कहा कि जब मैच खेले जाएंगे तो मैदान पर मेंटॉर उपलब्ध नहीं होंगे, तब खिलाड़ियों को ही अपनी होशियारी दिखानी होगी. ऐसे में मेंटॉर एक हद तक ही खिलाड़ियों की मदद कर सकता है.

72 वर्षीय गावस्कर ने कहा, ‘मेंटॉर ज्यादा कुछ नहीं कर सकता. इस प्रारूप में तेजी से बदलाव होता है और हां, वह आपको ड्रेसिंग रूम में तैयारी करने में मदद कर सकता है. वह अगर जरूरत हुई तो रणनीति को बदलने में आपकी मदद कर सकता है.’

उन्होंने कहा, ‘वह टाइम-आउट के दौरान बल्लेबाजों और गेंदबाजों से बात कर सकता है, इसलिए धोनी को नियुक्त करने का कदम अच्छा है लेकिन धोनी ड्रेसिंग रूम में होंगे और मैदान में वास्तविक काम खिलाड़ियों को करना होगा. मैच का परिणाम इस बात पर निर्धारित होगा कि खिलाड़ी दबाव को कैसे संभालते हैं.’

भारत रविवार को सुपर 12 चरण में पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगा और गावस्कर को लगता है कि इस प्रारूप में विराट कोहली (Virat Kohli) की टीम जीत की प्रबल दावेदार है. इस दौरान सुनील गावस्कर ने वैश्विक टूर्नामेंट में नॉक स्टेज में भारत के विफल होने पर चिंता भी जताई. उन्होंने कहा कि भारत अकसर बड़े मैचों में अपना सही टीम कॉम्बिनेशन खिलाने में गलती कर जाता है और यही उसकी हार का बड़ा कारण बनता है.

उन्होंने कहा, ‘बड़े मैचों में भारत की समस्या टीम संयोजन रही है. अगर उन्हें नॉकआउट मैचों में अंतिम एकादश का चयन मिल जाता, तो उन्हें कम समस्या होती. कई बार, आपके सोचने का तरीका अलग होता है.’

(इनपुट: भाषा)