Two New IPL Team: ललित मोदी (Lalit Modi) ने हाल ही में दुबई में सम्‍मान हुई दो नई आईपीएल टीम की नीलामी की प्र‍िक्रिया पर सवाल उठाए। ललित मोदी स्‍वयं आईपीएल के प्रमुख रह चुके हैं। उन्‍होंने सवाल उठाया कि यूके में सट्टेबाजी का धंधा चलाने वाली कंपनी को अहमदाबाद फ्रेंचाइजी क्‍यों सौंपी गई है। बीसीसीआई को अहमदाबाद और लखनऊ की टीम की नीलामी से 12,000 करोड़ रुपये की कमाई हुई है।

अहमदाबाद फ्रेंचाइजी को निजी इक्विटी फर्म सीवीसी कैपिटल्स पार्टनर्स ने 5625 करोड़ रुपये खर्च कर खरीदा है जबकि 7090 करोड़ में आरपीएसजी कंपनी ने लखनऊ फ्रेंचाइजी को अपने नाम किया।

Two New IPL Team: सीवीसी स्वयं को निजी इक्विटी के क्षेत्र में दुनिया की शीर्ष कंपनी बताती है जो 125 अरब डॉलर की संपत्तियों का प्रबंधन करती है। सीवीसी की वेबसाइट के अनुसार उसका निवेश टिपिको और सिसल जैसी कंपनियों में हैं जो खेल सट्टेबाजी से जुड़े हैं। भारत में सट्टेबाजी वैध नहीं है। सीवीसी अतीत में फार्मूला वन में भी निवेश कर चुका है और अब उसकी हिस्सेदारी प्रीमियरशिप रग्बी में है।

ललित मोदी (Lalit Modi) ने बेटिंग से जुड़े कारोबार वाली कंपनी के आईपीएल में आने पर अपनी नाराजगी जाहिर की। उन्‍होंने ट्वीट किया, ‘‘मुझे लगता है कि सट्टेबाजी कंपनियां आईपीएल टीम खरीद सकती हैं। शायद कोई नया नियम है। बोली जीतने वाला एक बोलीदाता एक बड़ी सट्टेबाजी कंपनी का मालिक भी है। आगे क्या होगा। क्या बीसीसीआई ने अपना काम नहीं किया। भ्रष्टाचार रोधी इकाइयां ऐसे मामले में क्या करेंगी।’’

आईपीएल टीम के लिए दिग्गज फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाईटेड के मालिकों ने भी बोली लगाई थी।