विराट कोहली (Virat Kohli) टेस्ट फॉर्मेट की कमान छोड़ चुके हैं. इस फैसले ने सभी फैंस को चौंका दिया है. विराट कोहली भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान हैं, जिन्होंने 40 मुकाबले जिताए. कोहली ऑस्ट्रेलिया धरती पर टेस्ट सीरीज जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान भी रहे, लेकिन साउथ अफ्रीका में वह ऐसा ना कर सके. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीरीज हारने के कुछ घंटों बाद ही विराट कोहली ने कप्तानी छोड़ने की जानकारी कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को दी थी. विराट कोहली ने जब बीसीसीआई को इसके बारे में बताया, तो उनसे फैसले पर दोबारा सोचने को नहीं कहा गया है.

सौरव गांगुली को फोन पर जानकारी दी

‘द टेलीग्राफ’ की रिपोर्ट के अनुसार विराट कोहली ने 15 जनवरी को दोपहर 1 बजे बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) और सचिव जय शाह (Jay Shah) को अपने फैसले के बारे में बता दिया था. इससे गांगुली और शाह को हैरानी जरूर हुई, लेकिन बोर्ड ने उनसे फैसले पर दोबारा विचार करने की गुजारिश नहीं की.

किसी ने नहीं मनाया…

रिपोर्ट के मुताबिक विराट कोहली कप्तानी छोड़ने का फैसला पहले ही ले चुकी थे. ऐसे में उन्हें मनाने की कोशिश करने का कोई फायदा नहीं था. वनडे कप्तानी को लेकर छिड़े विवाद के बाद आला अधिकारियों ने चुप रहना ही बेहतर समझा.

सबसे पहले राहुल द्रविड़ को फैसला बताया

केप टाउन टेस्ट खत्म होने के बाद शुक्रवार शाम होटल पहुंचकर विराट कोहली ने राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) और साथी खिलाड़ियों को इसकी जानकारी दे दी थी. माना जा रहा है कि विराट कोहली साउथ अफ्रीका दौरे पर जाने से पहले ही सोच चुके थे कि बतौर कप्तान ये उनकी आखिरी टेस्ट सीरीज है. वह जीत के साथ इस सफर को खत्म करना चाहते थे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका.