विराट कोहली (Virat Kohli) ने टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया है. 15 जनवरी को इस दिग्गज खिलाड़ी ने सोशल मीडिया पर फैंस को इसकी जानकारी दी है. विराट कोहली ने यह कहकर टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ दी कि उन्होंने अपना काम ईमानदारी से किया और अब कप्तानी छोड़ने का समय आ गया है. भारत ने हाल ही में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज गंवाई है. ऐसे में फैंस कोहली के इस बड़े फैसले को साउथ अफ्रीका दौरे पर भारत के प्रदर्शन से जोड़कर भी देख रहे हैं.

विराट कोहली ने महेंद्र सिंह धोनी-रवि शास्त्री को कहा थैंक्स

विराट कोहली को 2014 में टेस्ट कप्तान नियुक्त किया गया था, जब धोनी ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ शृंखला के बीच में इस पद को छोड़ दिया था. विराट कोहली ने टेस्ट फॉर्मेट की कमान छोड़ने का ऐलान करते हुए महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को उन पर भरोसे के लिए भी शुक्रिया अदा किया है. इसके साथ ही उन्होंने पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) को भी धन्यवाद कहा है.

कोहली ने इमोशनल नोट में लिखा, ‘‘मैंने 7 वर्ष की मेहनत और संघर्ष से टीम को सही दिशा में ले जाने की कोशिश की. मैंने अपना काम पूरी ईमानदारी के साथ किया है. मैंने अपनी ओर से कोई कसर नहीं छोड़ी. हर चीज को कभी न कभी रुकना होता है और मेरे लिए भारत की टेस्ट कप्तानी को छोड़ने का यही वक्त है. इस सफर में कई उतार-चढ़ाव आए हैं, लेकिन मेरी कोशिशों और भरोसे में कभी कमी नहीं आई.’’

…जब विराट कोहली और बीसीसीई के बीच ठनी

विराट कोहली को हटाकर बीसीसीआई ने रोहित शर्मा को वनडे टीम का कप्तान नियुक्त कर दिया था. विराट कोहली और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के बीच विवाद उस वक्त गर्मा गया था, जब विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका रवानगी से पहले प्रेस कांफ्रेंस में बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली के बयान का खंडन करते हुए कहा था कि उनसे टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने के फैसले पर पुनर्विचार के लिये नहीं कहा गया था.