दक्षिण अफ्रीका  © AFP
दक्षिण अफ्रीका © AFP

दक्षिण अफ्रीका की इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के साथ ही उनके मौजूदा कोच रसेल डोमिंगो का कार्यकाल खत्म हो रहा है। इस तरह से दक्षिण अफ्रीका के नए कोच की नियुक्ति के लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है। ऐसे में सितंबर की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका टीम को नया कोच मिलने की संभावनाएं हैं। मौजूदा समय में इस पद के लिए 5 दावेदार हैं। जिन पांच दावेदारों को लेकर बात की जा रही है वे हैं ज्योफरी तोयोना, और मेलिबोंगे माकेटा, टाइटंस के पूर्व कोच रॉब वाल्टर और रिचर्ड पेबस, इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका ए के मौजूदा कोच शुरकी कोनार्ड इस रेस में शामिल है।

वेस्टइंडीज के फिल सिमंस जो पहले से ही आयरलैंड और वेस्टइंडीज के कोच रह चुके हैं, उन्होंने भी इस पोजीशन के लिए अपना आवेदन दिया है। खबरों के मुताबिक कई महीनों कीअनिश्चितताओं के बाद डोमिंगो ने अपनी पोजीशन के लिए फिर से आवेदन नहीं दिया है। ऐसे में इंग्लैंड के खिलाफ दक्षिण अफ्रीकी की चार टेस्ट मैचों की सीरीज उनका बतौर कोच अंतिम दौरा होगा।  ये भी पढ़ें: आईसीसी महिला विश्व कप, भारत बनाम वेस्टइंडीज, प्रिव्यू: वेस्टइंडीज को धूल चटाने उतरेगी टीम इंडिया

जिस पैनल को कोच चुनने का काम दिया गया है उसमें क्रिकेट साउथ अफ्रीका के तीन बोर्ड सदस्य- नोर्मन एरडेन्स, रिहान रिचर्डस और ऊपा कागिसांग शामिल हैं। इसके अलावा दो पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कोच गैरी कर्टसन और एरिक सिमंस भी शामिल हैं। जब कोच का चुनाव किया जाएगा तो उनका मुख्य उद्देश्य ऐसे कोच के चुनाव पर होगा जो दक्षिण अफ्रीका को वर्ल्ड कप 2019 जैसे बड़े टूर्नामेंट में अपने प्रदर्शन को सुधारने और टेस्ट टीम को मजबूत बना सके। इसके अलावा एक अश्वेत अफ्रीकी को दक्षिण अफ्रीका का कोच बनाने के लिए कहा जा रहा है।

अगर ऐसा होता है तो ये पहला मौका होगा जब कोई अश्वेत अफ्रीकी, टीम का कोच बने। रविवार को नए कोच की नियुक्ति के संबंध में एबी डीविलियर्स ने कहा था कि नए कोच के आने से उनके अंतरराष्ट्रीय भविष्य पर असर पड़ेगा। डोमिंगो को लंबे समय से दक्षिण अफ्रीकी टीम से अच्छा सहयोग मिला। दोनों डीविलियर्स और टेस्ट कप्तान डू प्लेसी ने कहा था कि वे चाहते हैं कि डोमिंगो अगस्त के बाद तक कोच बने रहें। लेकिन क्रिकेट साउथ अफ्रीका के साथ कुछ मुद्दों पर बात न बनने के कारण डोमिंगो ने अपना कॉन्ट्रेक्ट आगे नहीं बढ़ाना चाहा।